म’रते दम तक जे’ल में रहेगा ब्रजेश ठाकुर, कोर्ट ने कहा- तुमने साड़ी मर्यादा को तार-तार कर दिया

म’रते दम तक जे’ल में रहेगा ब्रजेश ठाकुर, कोर्ट ने कहा- तुमने साड़ी मर्यादा को तार-तार कर दिया

- in नया-नया
457
0

मुजफ्फरपुर : दिल्ली के साकेत कोर्ट ने मंगलवार को मुजफ्फरपुर बालिका गृह कांड में ब्रजेश ठाकुर समेत 6 आ/रोपियों को कई लड़कियों के यौ/न उ/त्पीड़न के लिए अंतिम सांस तक का/रावास की स/जा सुनाई। साथ ही 5 दो/षियों को उ/म्रकैद अौर 6 अन्य को 10-10 साल की स/जा सुनाई। अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश सौरभ कुलश्रेष्ठ ने अपने फैसले में क/ठोर शब्दों में कहा कि ब्रजेश बच्चियों के साथ योजनाबद्ध तरीके से की गई साजिश का किंगपिन था। उसने अत्यधिक घि/नौने काम किए। बच्चियों की देखभाल के जिम्मेवार पर्यवेक्षकों और प्रशासकों ने शेल्टर होम में खुद को द/रिंदे और शि/कारियों में बदल दिया।नाबालिग बच्चियों से ब/लात्कार करने के लिए उन पर घि/नौने तरीके के अ/त्याचार किए। इन मासूमों पर करीब चार साल तक लगातार यौ/न हमले करते रहे।

ब्रजेश ठाकुर के अ/पराधों की लम्बी फेहरिस्त है। जज ने कहा कि जो व्यक्ति इस तरह की बच्चियों की देखभाल करने वाली संस्था का नियंत्रण और प्रबंधन करता है, उससे उम्मीद की जाती है कि वह दया, संयम और नैतिककता प्रदर्शित करेगा। लेकिन ब्रजेश और उसके शार्गिदों ने सारी हदें पार कर दीं। न केवल पी/ड़ित लड़कियों को धो/खा दिया। बल्कि, इस तरह के घि/नौने कृत्यों को अंजाम देकर अत्यधिक वि/कृत और सं/कीर्ण मानसिकता का प्रदर्शन किया। हैरान करने वाली बात यह है कि पी/ड़िताएं एक राज्य वित्त पोषित शेल्टर होम में शरण ली हुई थीं। ब/लात्कार और उत्तेजित यौ/न ह/मलों के कारण उन्हें गंभीर शा/रीरिक-मा/नसिक पी/ड़ा हुई। ऐसे में इन अ/पराधियों को कठोर स/जा मिलनी ही चाहिए।

dailybihar.com, dailybiharlive, dailybihar.com, national news, india news, news in hindi, ।atest news in hindi, बिहार समाचार, bihar news, bihar news in hindi, bihar news hindi NEWS

ब्रजेश ठाकुर समेत 6 दाे/षियाें काे अंतिम सांस तक उ/म्रकैद की स/जा सुनाई। इनमें ब्रजेश ठाकुर, रवि राैशन, दिलीप कुमार वर्मा, विकास कुमार, गुड्डू पटेल अाैर विजय कुमार तिवारी शामिल हैं। वहीं, ब्रजेश की राजदार शाइस्ता परवीन उर्फ मधु, किरण कुमारी, रामानुज ठाकुर, मीनू देवी, कृष्ण कुमार राम को उ/म्रकैद की स/जा हुई। ब्रजेश काे 32 लाख रुपए जुर्माना भी भरना हाेगा। बालिका गृह का कथित डॉक्टर अश्वनी कुमार, मंजू देवी, चंदा देवी, रामाशंकर सिंह, हेमा मसीह व नेहा कुमारी काे 10 वर्ष कैद की स/जा हुई। इंदु कुमारी काे तीन साल कैद व 10 हजार जु/र्माना अाैर राेजी रानी काे छह माह कै/द की स/जा हुई है। राेजी रानी अपनी सजा न्यायिक हि/रासत में पूरी कर चुकी है। इसलिए उसे मुक्त कर दिया गया है। स/जा के बाद 18 दो/षियों काे तिहाड़ भेज दिया। जज ने सीबीअाई काे अादेश दिया कि पी/ड़िताअाें का बंद लिफाफे में रिपाेर्ट सरकार काे दें ताकि पी/ड़िताअाें काे मुअावजे का भुगतान किया जा सके। कोर्ट ने पीड़िताअाें काे 25 हजार से 9 लाख तक मुअावजा देने का अादेश दिया।

दो/षियों के पास ऊपरी अदालत में जाने का विकल्प है। लेकिन, मुझे नहीं लगता कि जाे स/जा हुई है, उसमें किसी तरह की राहत की गुंजाइश है। अाजीवन का/रावास की सजा पाॅक्साे एक्ट के प्रावधान के मुताबिक मिली है। सजा में वैज्ञानिक अनुसंधान भी महत्वपूर्ण कड़ी रही है।(जैसा कि वरिष्ठ अधिवक्ता डाॅ. संगीता शाही ने बताया

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

CM नीतीश पर बोलीं राबड़ी देवी, कहा- उनका मन पलटता है तो भी RJD स्वीकार नहीं करेगी

PATNA: मंगलवार को बिहार में NRC लागू नहीं