मधुबनी की हर टूटी सड़क का हिसाब है, नीतीश कुमार से सवाल है…

मधुबनी की हर टूटी सड़क का हिसाब है, नीतीश कुमार से सवाल है…

- in अभी-अभी
518
0

रवीश कुमार

प्राइम टाइम लोक-पत्र संभाग- मधुबनी की हर टूटी सड़क का हिसाब है, नीतीश कुमार से सवाल है 

यह पत्र शानदार है। पत्र भेजने वाले ने कितना शोध किया है। अब मैं तो इन दावों की जाँच नहीं कर सकता लेकिन देखिए लोग अपने विधायक सांसद से किस तैयारी के साथ सवाल करते हैं। चुनाव जीतने के लिए मारामारी करने वाले नेता चुनाव जीत कर काम क्यों नहीं करते? 


पत्र- बिहार के मधुबनी जिला के हर्लाखी विधानसभा का रीपोर्ट कार्ड पढ़िए । पिछले एक दशक से बैंगरा चौक से मिनती, पोखरौनी,डुमरा होते हुए उच्चैठ भगवती स्थान जानेवाली आरईओ सड़क बिल्कुल जर्जर स्थिति में है। इस पर पैदल चलना भी मुश्किल है। इसके अलावे मधवापुर प्रखंड  क्षेत्र की 25 अति महत्त्वपूर्ण सड़कें वर्षों से बदहाल है,जिसकी वजह से आम लोगों को काफी परेशानी हो रही है।


आइए,आज हम सिर्फ मधवापुर की बदहाल सड़कों से आपको रु-ब-रु कराते हैं। यह तमाम ऐसी सड़कें हैं,जिसकी बदहाली सांसद-विधायक के दावों की हकीकत बता रही है। इन सड़कों को देख कर शर्म को भी शर्म आती है,लेकिन यहां के विधायक और सांसद को जरा-सी भी शर्म नहीं आती।


जर्जर पथों के गांव सहित नाम इस प्रकार हैं—:
1-बैंगरा से मिनती,पोखरौनी,डुमरा होते हुए उच्चैठ भगवती स्थान जानेवाली जर्जर सात किलोमीटर सड़क 2-बैंगरा चौक एसएच-75 से पतार होते हुए तरैया जानेवाली पांच किलोमीटर जर्जर सड़क
 3-पतार से पररी होते हुए सुजातपुर तक पांच किलोमीटर जर्जर सड़क(मिट्टी वाली सड़क है) 4-पतार से अन्दौली जानेवाली मिट्टी वाली जर्जर तीन किलोमीटर सड़क

5-त्रिमुहान एसएच-75 से बिशनपुर जाने वाली तीन किलोमीटर जर्जर मिट्टी वाली सड़क6-पकड़ी से तरैया जाने वाली मिट्टी वाली तीन किलोमीटर जर्जर सड़क 7-पकड़शाम से तरैया जाने वाली तीन किलोमीटर जर्जर सड़क 8-बैंगरा से पिहवारा जानेवाली जर्जर मिट्टी सड़क 9-उत्तरा चौक से पिहवारा होते हुए सोवरौली जाने वाली जर्जर सड़क


10-सोवरौली से करहुआँ गोट जाने वाली जर्जर तीन किलोमीटर मिट्टी सड़क 11-मिनती आरईओ सड़क से उत्तरा महादेव मंदिर तक 12-रतौली चतरा टोल आरईओ सड़क से बोकहा जाने वाली पिपरहिया सड़क तक


13-पोखरौनी आरईओ सड़क से बोकहा पश्चिम टोल होते हुए उत्तरा गनसारा आरईओ सड़क  तक 14-पोखरौनी आरईओ सड़क से डुमरा गांव होते हुए डुमरा आरईओ सड़क तक 15-बोकहा पूरब महादलित टोल से सलेमपुर चौक तक 


16-साहरघाट सहरदेई से महुआ जाने वाली सड़क से सहरदेइ टोल होते हुए सोनई जाने वाली मुख्य सड़क तक 17-रैमा गांव से मनहरपुर तक जाने वाली सड़क 18-रैमा से गंगौर जानेवाली जर्जर सड़क 19-मिनती से सिमरकोंन होते हुए पुल सहित डुमरा गांव तक जाने वाली सड़क


20-अबारी से तरैया जाने वाली जर्जर सड़क 21-उत्तरा एसएच-75 से उत्तरा भगवती स्थान तक जाने वाली सड़क 22-बिकरू साह पोखरौनी के घर से देउरी नहर तक सड़क निर्माण 23-बासुकी चौक से प्रखंड मुख्यालय मधवापुर जानेवाली बॉर्डर एरिया की जर्जर महत्त्वपूर्ण सड़क


24-एनएच-104 साहरघाट से अकरहरघाट तक 25-मुख्यमंत्री सेतु निर्माण योजना से अकरहरघाट में पुल का निर्माण


उपरोक्त सभी 25 ग्रामीण अति महत्त्वपूर्ण पथों की जर्जरता के कारण मधवापुर प्रखंड के दर्जनों गांवों के लोगों को आवागमन की भारी असुविधा है। लोगों को बरसात के समय में भारी फजीहत झेलनी पड़ती है। इन सड़कों की जर्जरता के कारण अधिकांश सड़कें चार माह तक पानी में डूबी रहती हैं।  इसमें कई सड़कें भारत-नेपाल को सीधे जोड़ने वाली हैं।ऐसी स्थिति में मधवापुर प्रखंड की उक्त 25 जर्जर सड़कों की सुधि आज तक किसी ने नहीं ली।


ऐसे में हरलाखी विधायक सुधांशु शेखर के विकास के दावों में कितना दम है? यह हम नहीं,इन तमाम गांवों के लोग विधायक और सांसद से पूछ रहे हैं कि क्या यही विकास है साहब जी!

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

जदयू की बैठक में शामिल नहीं होंगे प्रशांत किशोर, सीएम नीतीश ने नहीं भेजा निमंत्रण पत्र

अभी-अभी राजधानी पटना से एक बड़ी खबर सामने