लॉकडाउन में भीड़-भड़क्के से बचने के लिए दुकानवालों ने ये जाबड़ तरीका निकाला

लॉकडाउन में भीड़-भड़क्के से बचने के लिए दुकानवालों ने ये जाबड़ तरीका निकाला

- in नया-नया
946
0

Patna: 24 मार्च. रात आठ बजे. छह दिनों में दूसरी बार पीएम नरेंद्र मोदी टीवी पर आए. धुकधुकी बढ़ी. उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस के चलते रात 12 बजे से पूरे देश में 21 दिनों का कंप्लीट लॉकडाउन होगा. फिर क्या था, लोगों को दौड़ना ही था. दौड़े. कहां? किराने से लेकर सब्जी और तमाम दुकानों तक. भीड़-भड़क्का हो गया. सोचा गया कि चार घंटे का समय है. चलो कम से कम 21 दिनों का इंतज़ाम कर लिया जाए. हालांकि सरकार ने कह रखा है कि ज़रूरी सामानों की कमी नहीं होने दी जाएगी.

इस दौड़म-भाग में पीएम मोदी का एक मेसेज पीछे छूट गया. सोशल डिस्टेंसिंग का. ‘ज़रा फासले से मिला करो’ वाली सलाह दी जा रही है. दुकानों पर भीड़ बढ़ी, तो ज़ाहिर है लोग एक-दूसरे के संपर्क में आए. ये खतरनाक भी है और बेवकूफी भी.

अब कई दुकानों ने इस स्थिति से निपटने का आसान और बढ़िया रास्ता निकाला है. देश के कई हिस्सों से ऐसी तस्वीरें आई हैं, जिनमें दुकानों ने अपने आगे चूने, चॉक या पेंट से सफेद सर्कल-बॉक्स बना दिए हैं. अलग-अलग दूरी पर. कहा है कि भइया इसी में खड़े रहिए और अपनी बारी का इंतज़ार कीजिए. ये सोशल डिस्टेंसिंग की प्रैक्टिस है, जिसकी तारीफ भी शुरू हो चुकी है.

CoronaLockDownBihar Update:बिहार के लोगों ने अपनायी social distancing, तीन पुलिसकर्मी गिरफ्तार

कोरोना के संक्रमण को देखते हु्ए पूरे देश में लॉकडाउन का आज दूसरा दिन है वहीं बिहार में पिछले चार दिनों से लॉकडाउन चल रहा है. पटना सहित बिहार के सभी जिलों में आज, गुरुवार की सुबह से लोग अपने घरों में हैं, सड़क पर लोगों की भीड़ बहुत कम दिखाई दे रही है. जिन लोगों को जरूरत का सामान चाहिए वही लोग घरों से निकल रहे हैं. पुलिसकर्मी, डॉक्टर, घरेलू गैस के वेंडर सहित तमाम तरह के एेसे लोग जिनकी ड्यूटी नागरिक सुविधा लोगों तक पहुंचाने की है वही घरों से बाहर हैं.

घर से बेवजह बाहर निकलने वालों से पुलिस सख्ती से निपट रही है, तो वहीं कई गांव के ग्रामीणों ने गांव के बाहर बैरिकेडिंग कर गांव में खुद को लॉकडाउन कर रखा है. वहीं आज सुबह से कई जगहों पर सोशल डिस्टेंसिंगा का पालन करते दिखे. कई सामाजिक संस्थाएं इस मुश्किल घड़ी में नागरिक सुविधाओं को लेकर अपने काम पर डटे लोगों के लिए चंदा इकट्ठा कर आवाश्यक वस्तुएं उपलब्ध कराई हैं.

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

PMCH : बिहार के डॉक्टर रेन कोट पहन कर रहे हैं कोरोना मरीजों का इलाज

PMCH : बिहार के डॉक्टर रेन कोट पहन