पूरे देश में लागू हो श’राबबंदी, श’राब पीना मौलिक अधिकार नहीं : नीतीश

पूरे देश में लागू हो श’राबबंदी, श’राब पीना मौलिक अधिकार नहीं : नीतीश

- in नया-नया
824
0

PATNA ; मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि बिहार में श/राबबंदी लागू होने के बाद देश में हर तरफ श/राबबंदी की मांग तेजी से बढ़ने लगी है। कुछ लोग श/राब पीने को अपने मौलिक अधिकार से जोड़ते हैं। सुप्रीम कोर्ट ने स्पष्ट कर दिया है कि श/राब और मौलिक अधिकार साथ-साथ नहीं चल सकते। इसलिए पूरे देश में श/राबबंदी लागू होना चाहिए। यह सामाजिक, धार्मिक और वैज्ञानिक दृष्टिकोण से भी जरूरी है। मुख्यमंत्री रविवार को इस्कॉन सभागार में श/राबमुक्त भारत पर राष्ट्रीय सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे। इसका आयोजन मिलित ओडिसा निशा निवारण अभियान ने किया था। उन्होंने कहा कि बिहार मद्यनिषेध अभियान के लिए देश में रोल मॉडल है। पिछले 10 वर्षों में बिहार की विकास दर दो अंकों में बनी रही है।

wine, dailybihar, dailybihar.com

मुख्यमंत्री ने कहा कि पोर्न साइट्स पर तत्काल प्रभाव से रोक लगाया जाना चाहिए। इंटरनेट पर लोगों की असीमित पहुंच के कारण बड़ी संख्या में बच्चे और युवा अश्लील, हिंसक और अनुचित सामग्री को देख रहे हैं। बच्चों और कम उम्र के कुछ युवा के मस्तिष्क को इस तरह की सामग्री गंभीर रूप से प्रभावित करती हैं।

गांधी ने कहा था, 1 घंटे का भी तानाशाह बना तो श/राब बंद करा दूंगा : मुख्यमंत्री ने कहा कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी अक्सर कहते थे, अगर मुझे एक घंटे के लिए भारत का तानाशाह बना दिया जाए तो मैं सबसे पहले श/राब की सभी दुकानों को बिना क्षतिपूर्ति के बंद करा दूंगा। बापू ने हमेशा श/राब का विरोध किया। वे कहते थे कि श/राब आदमियों से न सिर्फ उनका पैसा छीन लेती है बल्कि उनकी बुद्धि भी हर लेती है। श/राब पीने वाला इंसान हैवान हो जाता है।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

दान किए गए PPE किटों को बेच रहा है चीन, माहामारी के दौर में भी ठगने का इल्ज़ाम.

चीन के वुहान से पैदा हुआ वायरस दुनिया