अभी-अभी : सुप्रीम कोर्ट में एनपीआर के खिलाफ याचिका रद्द, मोदी और CAA विरोधियों को झटका

अभी-अभी : सुप्रीम कोर्ट में एनपीआर के खिलाफ याचिका रद्द, मोदी और CAA विरोधियों को झटका

- in सोशल मीडिया
896
0

अभी-अभी सुप्रीम कोर्ट से एक बड़ी खबर सामने आ रही है बताया जा रहा है कि सुप्रीम कोर्ट ने उस याचिका को रद्द कर दिया है जिसमें एनपीआर पर रोक लगाने की बात कही गई थी।

गृह मंत्रालय द्वारा 31 जुलाई 2019 को जारी की गई अधिसूचना के मुताबिक एनपीआर अप्रैल से शुरू होने वाला है. इससे पहले सुप्रीम कोर्ट नागरिकता संशोधन अधिनियम के खिलाफ दाखिल याचिकाओं पर नोटिस जारी कर चुका है. इन याचिकाओं पर 22 जनवरी को सुनवाई होगी.

दिसंबर 2019 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्य‍क्षता में केन्द्रीय मंत्रिमंडल ने भारत की जनगणना 2021 की प्रक्रिया शुरु करने और राष्ट्रीय जनसंख्या‍ रजिस्टर (एनपीआर) को शुरू करने को मंजूरी दी थी. जनगणना प्रक्रिया पर 8754.23 करोड़ रुपये और एनपीआर पर 3941.35 करोड़ रुपये का खर्च आएगा.

देश की पूरी आबादी जनगणना प्रक्रिया के दायरे में आएगी, जबकि एनपीआर में असम को छोड़कर देश की बाकी आबादी को शामिल किया जाएगा. नागरिकता कानून 1955 और नागरिकता नियम 2003 के तहत एनपीआर को पहली बार 2010 में तैयार किया गया था. आधार नंबर से जोड़े जाने के बाद साल 2015 में इसको अपडेट किया गया था.

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

CM नीतीश पर बोलीं राबड़ी देवी, कहा- उनका मन पलटता है तो भी RJD स्वीकार नहीं करेगी

PATNA: मंगलवार को बिहार में NRC लागू नहीं