अभी-अभी : फिलहाल जदयू के मंच पर नहीं दिखेंगे जीतन राम मांझी, फंसी हुई है सीटों पर पेंच

[ad_1]

PATNA : पूर्व मुख्यमंत्री और हिंदुस्तान आवाम मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जीतनराम मांझी ने एनडीए में शामिल होने का ऐलान तो कर दिया लेकिन अभी वे जदयू के मंच पर नहीं दिखेंगे। जदयू के साथ उनकी सीटों की पेंच अभी भी फंसी हुई है। सूत्रों के मुताबिक मांझी की जदयू के साथ डील अभी चल रही है। मांझी खुद चुनाव नहीं लड़ना चाहते हैं लेकिन, इसकी जगह वे विधान परिषद या राज्यसभा की एक सीट को लेकर अड़े हैं। बताया जा रहा है कि इसी एक सीट को लेकर मामला फंसा है। मांझी के लिए राज्यसभा या विधान परिषद की सीट पक्की नहीं होती है तो वे कम से कम 12 विधानसभा सीट चाहते हैं। इधर, मांझी के एनडीए में आने के बाद लोजपा के तेवर तल्ख हैं। पार्टी ने साफ कर दिया है कि हम का गठबंधन जदयू के साथ है और नीतीश अपने कोटे की सीट मांझी को दें।

बुधवार को एनडीए में शामिल होने के ऐलान करते हुए मांझी ने कहा था कि उन्होंने सीटों को लेकर कोई शर्त नहीं रखी है। जदयू के पार्टनर के रूप में एनडीए के लिए काम करेंगे। बिहार में एनडीए की सरकार फिर बने इसके लिए एड़ी चोटी का जोर लगा देंगे। जदयू के साथ जाना मेरे लिए अमृत पीने जैसा है। प्रेस कॉन्फ्रेंस में जब मांझी से यह पूछा गया था कि वे विधानसभा चुनाव लड़ेंगे, इस पर उन्होंने कहा था कि 75 पार वाले को चुनाव नहीं लड़ना चाहिए। लेकिन, जदयू और हम के सूत्रों के मुताबिक नीतीश उन्हें चुनाव लड़ने के लिए मना रहे हैं। नीतीश ने मांझी को यहां तक कह दिया कि आप चुनाव लड़िये। आपको जिताने की जिम्मेदारी मेरी है। आपके क्षेत्र में पार्टी जबरदस्त चुनाव प्रचार करेगी और मैं खुद भी आपके इलाके में सक्रिय रहूंगा। आपकी जीत सुनिश्चित करने के लिए पार्टी एड़ी-चोटी का जोर लगा देगी।

[ad_2]

Source link

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.