अभी-अभी : CM नीतीश का ऐलान- बाढ़ प्रभावित क्षेत्र के लोगों को मिलेगा छह-छह हजार का सरकारी अनुदान

बिहार में इन जिलों के बाढ़ प्रभावित परिवारों को मिलेंगे 6-6 हजार रुपये : लिस्ट हो रहा तैयार

बिहार में मौजूदा बाढ़ की स्थिति को देखते हुए बाढ़ग्रस्त इलाकों के हरेग प्रभावित परिवार को सरकार की ओर से छह-छह हजार रुपये दिए जाएंगे.साथ ही साथ बाढ़ के कारण जिनका कच्चा-पक्का मकान क्षतिग्रस्त हुआ है या जिनकी फसल बर्बाद हुई है, सरकार उन्हें भी सहायता राशि देगी. इसके साथ ही मवेशियों का नुकसान होने पर भी सरकार सहायता देगी.

बाढ़ पीड़ितों को सरकारी सहायता पहुंचाने के लिए आपदा प्रबंधन विभाग ने जिलों को अविलंब सूची तैयार करने को कहा है. विभाग ने कहा कि सभी बाढ़ग्रस्त इलाके के सभी परिवारों को 6 हजार की सहायता राशि तुरंत दी जाएगी. प्रभावितों के नाम-पता के साथ अकाउंट नंबर भी लिया जाएगा. राहत निधि के 6000 रुपये सीधे प्रत्येक बाढ़ प्रभावित परिवार के बैंक खातों में जमा किया जाएगा.

गोपालगंज में टूट गया गंडक नदी का तटबन्ध, स्थिति विकराल : नेपाल और उत्तर बिहार में पिछले चार-पांच दिन से हो रही बारिश के चलते गंडक नदी उफनाई हुई है। शुक्रवार को गोपालगंज और पूर्वी चंपारण में गंडक का बांध तीन जगह टूट गया। बांध टूटने से 1000 से अधिक गांव में पानी भर गया है। लोग जान बचाने के लिए ऊंचे स्थान की ओर पलायन कर रहे हैं। बांध टूटने से दोनों जिले के एक लाख से अधिक लोग प्रभावित हुए हैं।

गोपालगंज जिले के बरौली प्रखंड में देवापुर के पास सारण मुख्य बांध टूट गया है। पानी तेजी से एनएच 28 की ओर बह रहा है। एनएच पर पानी का दबाव बढ़ गया है, जिससे इसके कटने का खतरा है। हादसा रोकने के लिए कई जगह बैरिकेडिंग की गई है। वहीं, देवापुर में पानी की तेज धारा में एक 12 साल का किशोर बह गया है। उसकी तलाश की जा रही है। देवापुर के बाद मांझागढ़ के पुरैना में भी सारण बांध टूट गया है, जिससे इलाके में अफरा-तफरी मच गई है।

पूर्वी चंपारण जिले के संग्रामपुर प्रखंड के दक्षिणी भवानीपुर पंचायत के निहालु टोला में करीब 10 फीट की चौड़ाई में गंडक नदी पर बना चंपारण बांध टूट गया है। बांध टूटने का दायरा बढ़ रहा है। पानी तेजी से आस-पास के करीब 600 गांव में फैल रहा है, जिससे गांव के लोग घर छोड़कर ऊंचे स्थान की ओर जा रहे हैं। एसएच 74 पर भी पानी चढ़ने लगा है। दक्षिणी भवानीपुर में गांव होकर नदी ने धारा बनाया है। डीएम और एसपी कैंप कर रहे हैं। एनडीआरएफ की कई टीम तैनात है। जवान लोगों को बचाकर सुरक्षित स्थान तक ले जा रहे हैं।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *