आज रेलवे स्टेशन पर बंद रहेंगी बत्तियां, नए आदेश से नाराज़ स्टेशन मास्टर दर्ज कराएंगे विरोध

कोरोना काल में रेलवे अपने कर्मचारियों के रात्रिकालीन ड्यूटी भत्तों को लेकर नया आदेश जारी किया है। इसे लेकर कर्मियों में भारी नाराजगी है। अब नाइट एलाउंस उन्हीं कर्मियों को मिलेगा, जिनका मूल वेतन 43600 है या इससे कम है। इस फरमान से स्टेशन मास्टरों में भारी आक्रोश है।इसके विरोध में देशभर के 39000 स्टेशन मास्टरों ने 15 अक्तूबर को मोमबत्ती जलाकर विरोध दर्ज कराने का फैसला लिया है।

रात्रिकालीन शिफ्ट में ब्रांच हेड क्वार्टर पर पांच स्टेशन मास्टर एवं रोड साइड स्टेशनों पर ऑनड्यूटी स्टेशन मास्टर समस्त लाइट बंद करके इस आदेश का विरोध करेंगे।

ऑल इंडिया स्टेशन मास्टर एसोसिएशन के मंडल सचिव अजय नारायण पांडेय ने बताया कि रेलवे बोर्ड यदि इस आदेश को रद्द नहीं किया तो 20 अक्तूबर से देश के समस्त स्टेशन मास्टर काला सप्ताह मनाएंगे।

बांह में काली पट्टी बांधकर कार्य करेंगे। 31 अक्तूबर को समस्त ऑनड्यूटी एवं ऑफ ड्यूटी स्टेशन मास्टर 12 घंटे की भूख हड़ताल पर जाएंगे। कैटेगरी संरक्षा के साथ अनवरत रूप से नाइट ड्यूटी करने वालों के साथ ऐसा व्यवहार रेलवे प्रशासन द्वारा संरक्षा के साथ खिलवाड़ है, जिसका स्टेशन मास्टर विरोध करेंगे।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *