आरा में बर्थडे पार्टी से बाइक से लौट रहे 3 दोस्तों को ताबड़तोड़ मारी गोली, 1 की चली गई जान

[ad_1]

PATNA : बिहार का भोजपुर जिला एक बार फिर अपराधियों की गोलियों से थर्रा उठा है. मामला जिले के मुफस्सिल थाना क्षेत्र के जगवालिया एवं पिरौटा गांव के बीच का है, जहां बुधवार की देर रात बाइक सवार हथियारबंद अपराधियों ने बर्थडे पार्टी से लौट रहे बाइक सवार तीन दोस्तों को ताबड़तोड़ गोली मार दी. गोलीबारी की इस घटना में जहां एक युवक की मौत हो गई, वहीं दो गंभीर रूप से जख्मी हो गये हैं. घटना को लेकर आसपास के इलाके में हड़कंप मच गया. जानकारी के अनुसार, मृतक की पहचान रामबाबू रजक के पुत्र रंजीत कुमार रजक के तौर पर की गई है. घायलों में शिवाधार गोड़ के पुत्र मुन्ना कुमार एवं कन्हैया चौधरी के पुत्र मुकेश कुमार शामिल हैं. सभी टाउन थाना क्षेत्र के बलबतरा मुहल्ले निवासी हैं. जख्मी मुन्ना कुमार ने बताया कि वह अपने दो दोस्तों के साथ बाइक से कृष्णागढ़ थाना क्षेत्र के सरैया गांव बर्थडे पार्टी में गए थे. वह गुरुवार की अहले सुबह अपने दोनों दोस्तों के साथ बाइक से वापस घर लौट रहे थे, उसी दौरान जगवलिया एवं पिरौटा के बीच बाइक सवार तीन हथियारबंद अपराधियों ने उन पर ताबड़तोड़ गोली चला दी, जिसमें तीनों गंभीर रूप से जख्मी हो गये.

इसके बाद उन्हें आनन-फानन में इलाज के लिए सदर अस्पताल लाया गया जहां चिकित्सकों ने रंजीत कुमार रजक को मृत घोषित कर दिया, जबकि दोनों जख्मियों को प्राथमिक उपचार के बाद उनकी हालत को चिंताजनक देखते हुए पटना रेफर कर दिया गया है. जख्मी मुन्ना कुमार ने बताया कि गोली मारने के बाद अपराधियों ने कहा कि गलत आदमी को हमलोगों ने गोली मार दी है. इसके बाद वो बाइक स्टार्ट कर फरार हो गये. हालांकि, घटना का कारण अभी स्पष्ट नहीं हो पाया है.

घटना की सूचना मिलते ही सदर SDPO पंकज कुमार रावत और स्थानीय थाना की पुलिस घटनास्थल पर पहुंची और मामले की छानबीन में जुट गई. घटना के बाद मृतक के घर में कोहराम मच गया है. इस हादसे के बाद मृतक के परिवार के सभी सदस्यों का रो-रो कर बुरा हाल था. आंकड़े बताते हैं कि मार्च से लेकर अब तक (यानी सितंबर) भोजपुर में कोरोना से करीब 28 से अधिक जानें गई हैं, जबकि हत्या की वारदात में 55 से अधिक लोग मारे जा चुके हैं. जनवरी महीने से लेकर अगस्त महीने के बीच सर्वाधिक हत्या की घटनाएं लॉकडाउन के पहले और फिर ऑनलाक में घटित हुई हैं. मई और जून में सर्वाधिक वारदात हुई हैं.

[ad_2]

Source link

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *