आसान नहीं लालू के लाल की विधायकी, तेजप्रताप बदलेंगे सीट, रघुवंश को मनाना छोटे की मजबूरी

[ad_1]

PATNA : महागठबंधन विधानसभा चुनाव में उतरने की तैयारी भले कर रहा है, लेकिन राष्ट्रीय जनता दल अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव के दोनों बेटों की सीट ही पहले खतरे में नजर आ रही है। पूर्व उप मुख्यमंत्री और नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव की राघोपुर सीट रघुवंश की नाराजगी के कारण फंस सकती है तो उनके बड़े भाई तेज प्रताप यादव इस बार अपनी विधायकी बचाने के लिए दूसरी सीट की ओर बढ़ भी गए हैं। राजद के वरिष्ठ नेता रघुवंश सिंह के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष का पद छोड़ने के बाद से तेजस्वी परेशान हैं। तेजस्वी ने पारंपरिक सीट बचाने के लिए विकल्प भी तलाशा, लेकिन लालू प्रसाद से हरी झंडी नहीं मिली। अब उनके पास रघुवंश सिंह को मनाने की मजबूरी है और इसके लिए वह दिल्ली तक की दौड़ लगा चुके हैं। रघुवंश न इस पार आ रहे हैं और न उस पार, इसलिए संशय बढ़ता ही जा रहा है।

तेजस्वी यादव वैशाली जिले के राघोपुर से 2015 में चुनाव लड़े थे और जीत दर्ज की थी। राघोपुर सीट राजद का गढ़ रहा है। 90 के दशक से यहां सिर्फ एक बार राजद को हार का सामना करना पड़ा। इस सीट पर राजद नेता रघुवंश प्रसाद सिंह की पकड़ है। यहां से राजद के उम्मीदवारों की लगातार जीत में रघुवंश प्रसाद का बड़ा रोल रहा है। इस बार स्थिति बदल गई है। रघुवंश प्रसाद पार्टी के फैसलों से नाराज चल रहे हैं। तेजस्वी को रघुवंश की नाराजगी का असर जमीन पर दिखने का डर है। यही कारण है कि उन्होंने अपनी जीत पक्की करने के लिए विकल्प की तलाश में हैं। बाहुबली छवि के नेता रामा सिंह भी राघोपुर में असर रखते हैं, लेकिन रघुवंश के विरोध के चलते रामा सिंह की राजद में एंट्री रुक गई है। लालू यादव रघुवंश प्रसाद की कीमत पर रामा सिंह को पार्टी में शामिल करने को तैयार नहीं हैं।

महुआ विधानसभा सीट से 2015 में तेजप्रताप यादव को जीत मिली थी। जदयू महागठबंधन में शामिल था, इसलिए उनकी जीत लगभग पक्की थी। इस सीट पर जदयू की पकड़ रही है। 2010 के चुनाव में जदयू के उम्मीदवार रविंद्र राय ने राजद के जगेश्वर राय को 21925 वोट से हराया था। जदयू के एनडीए में शामिल होने के चलते इस बार तेजप्रताप के लिए फिर से चुनाव जीतना कठिन था, जिसके चलते वह हसनपुर से चुनाव लड़ने जा रहे हैं। तेजप्रताप की टीम हसनपुर में चुनावी अभियान में लगी है। सोमवार को तेजप्रताप ने यहां रोड शो भी किया था।

[ad_2]

Source link

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *