खुलेआम चोरी करते पकड़ाया पुलिस अधिकारी, हवलदार ने लगाई क्लास, कहा- वर्दी उतरवा दूंगा

कहा- साहब होगे अपने यहां, पर यहां अपराधी हो; 11 लोगों पर केस दर्ज, सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल

छत्तीसगढ़ के कोरबा वन मंडल में एक बीट गार्ड रेंजर ने बांस की अवैध कटाई कराते वरिष्ठ डिप्टी फॉरेस्ट रेंजर को रंगे हाथों पकड़ लिया। जूनियर ने सीनियर  को इस दौरान जमकर झाड़ा और कहा कि थ्री स्टार (वर्दी पर) लगा हुआ है, फिर भी आप लोग नियमों की जानकारी नहीं रखते हैं। आप साहब होगे अपनी जगह, पर यहां अपराधी हो। होश में रहो, वरना वर्दी उतरवा दूंगा। बीट गार्ड रेंजर ने डिप्टी रेंजर सहित 11 लोगों पर वन अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया है।

बीट गार्ड की गैर-हाजिरी में हुई कटाईः यह मामला कटघोरा इलाके में बांकीमोंगरा के हल्दीबाड़ी से जुड़ा है। वहां पर बांस बाड़ी है, जहां कैंपस गार्ड की पोस्ट पर बीट गार्ड शेखर सिंह रात्रे काम करते हैं। दो दिन पूर्व वह विभाग के काम से मरवाही गए थे। शुक्रवार को वापस आए, तो उन्होंने कैंपस में पाया कि वहां के बांस काट दिए गए हैं। उन्होंने जब इस बारे में वहां के मजदूरों से पूछताछ की तो पता चला कि इन सब ने कटघोरा के परिसर रक्षक रामकुमार यादव के कहेनुसार यह काम किया।

‘बहाने’ में कहा- विभाग स्तर पर काटे गए बांसः स्थानीय रिपोर्ट्स के मुताबिक, बीट गार्ड ने इसके बाद यादव से पूछताछ की, तो बताया कि रेंजर मृत्युंजय शर्मा के निर्देश पर कटाई हुई। फिर रात्रे ने बांस कटाई का काम रुकवाया, जिसके बाद मौके पर शर्मा भी पहुंचे। रात्रे और इनके बीच विवाद हुआ, जिसमें कहा-सुनी के दौरान यह सामने आया कि रेंजर के पास कटाई से जुड़े कोई कागजात नहीं हैं। फिर भी दलील दी गई कि ऐसा विभाग स्तर पर किया जा रहा है।

‘आप लोगों को नियम नहीं पता हैं’: फिर क्या था, बीट गार्ड ने इसके बाद उन्हें जमकर झाड़ना शुरू किया और कहा- आप लोगों को नियम नहीं पता हैं। आप अपराधी हो। आपको पंचनामा पर दस्तखत करने पड़ेंगे। आरक्षित वन क्षेत्र में किसी भी तरह की कटाई नहीं होती है। अगर ऐसा होता है, तो फरवरी-मार्च में होता है, वह भी अधिकारियों की अनुमति से। लिहाजा मामले में कार्रवाई हुई है।

VIDEO वायरल, लोगों ने शाबाशी दे बताया- असली सिंघमः वीडियो वायरल होने के बाद लोगों ने बीट गार्ड रेंजर को ‘रियल सिंघम’ बताया। कहा कि देश में ऐसे ही लोगों की जरूरत है। वहीं, कुछ लोगों ने बीट गार्ड की इस अप्रोच की जमकर तारीफ की और कहा कि इस पर विभाग और सरकार द्वारा रात्रे को सम्मानित किया जाना चाहिए।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *