जदयू का दावा-इस तरह के डिजिटल माध्यम का सिर्फ ट्रम्प ने किया इस्तेमाल, 7 को वर्चुअल रैली

[ad_1]

PATNA : जदयू ने बुधवार को अपना बहुआयामी डिजिटल प्लेटफॉर्म jdulive.com लांच किया। पार्टी का दावा रहा कि देश के किसी भी राजनीतिक दल का यह अपनी तरह का पहला डिजिटल प्लेटफॉर्म है। इसके जरिये बड़ी वर्चुअल रैलियों से लेकर छोटी सार्वजनिक एवं प्राइवेट वीडियो मीटिंग की जा सकेगी। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, 7 सितंबर को अपनी पहली वर्चुअल चुनावी रैली ‘निश्चय संवाद’ को इसी प्लेटफॉर्म से संबोधित करेंगे। ऐसे व्यापक डिजिटल मंच का इस्तेमाल अमेरिका के राष्ट्रपति चुनाव में डोनाल्ड ट्रंप कर चुके हैं। पार्टी के प्रदेश कार्यालय में ऊर्जा मंत्री बिजेंद्र प्रसाद यादव, जदयू संसदीय दल के नेता राजीव रंजन सिंह उर्फ ललन सिंह, जल संसाधन मंत्री संजय कुमार झा तथा भवन निर्माण मंत्री अशोक चौधरी ने इसे लांच किया। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को लांच करना था मगर राजकीय शोक के कारण उनका कार्यक्रम टल गया। झा ने कहा कि बिहार के ही आईआईटीयन की टीम ने भारत में अपनी तरह का पहला राजनीतिक डिजिटल मंच तैयार किया है। यह ‘मेक इन बिहार’ का उत्कृष्ट नमूना है।

अभी इससे 1 लाख लोग लाइव जुड़ सकेंगे। यह क्षमता 10 लाख तक बढ़ाई जा सकती है। जुड़ने के लिए दो विकल्प होंगे। ओपन रैली या मीटिंग में कोई भी जुड़ सकेगा। प्राइवेट मीटिंगों में जुड़ने के लिए संबंधित नेताओं व कार्यकर्ताओं को कोड उपलब्ध कराया जाएगा। टू वे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग: जूम कॉल, गूगल मीट की तरह इस प्लेटफॉर्म के जरिए भी टू वे वीडियो कॉन्फ्रेंस का आयोजन किया जा सकेगा। अभी एकसाथ 500 लोग दोतरफा वीडियो संवाद कर सकते हैं। यह संख्या बढ़ सकती है।
बिहार ब्रांड टीवी: यह बिहार ब्रांड टीवी के रूप में भी काम करेगा। इस पर बिहार और जदयू की उपलब्धियों से जुड़ी खबरों के साथ मुख्यमंत्री के भाषण और यात्राओं के वीडियो का संग्रह भी होगा।
मैसेज-सर्वे: कार्यकर्ताओं का डेटाबेस जुड़ा होगा। कोई मैसेज एक साथ लाखों कार्यकर्ताओं को एसएमएस से भेजा जा सकेगा। कार्यकर्ताओं के बीच जरूरी सर्वे भी पार्टी करा सकेगी।

[ad_2]

Source link

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *