‘जनता रोजगार मांगे तो धर्म का नशा चटा दो, पर अब नहीं’, मोदी सरकार पर बरसे बॉक्सर विजेंदर सिंह

मशहूर बॉक्सर विजेंदर सिंह ने रोजगार के मुद्दे पर केन्द्र की मोदी सरकार पर निशाना साधा है। विजेंदर ने कहा है कि मोदी सरकार धर्म के नाम का इस्तेमाल कर लोगों का अन्य जरुरी मुद्दों से ध्यान हटा रही है। विजेंदर ने ट्वीट करते हुए लिखा कि “जनता रोजगार मांगे तो धर्म का नशा चटा दो पर अब नहीं।” बता दें कि रोजगार के मुद्दे पर केन्द्र की मोदी सरकार लंबे समय से आलोचकों के निशाने पर है। अब लॉकडाउन ने सरकार की इस परेशानी को और बढ़ा दिया है।

माना जा रहा है कि विजेंदर सिंह का निशाना उस बात पर है कि जहां देश में बेरोजगारी तेजी से बढ़ रही है और युवाओं को रोजगार नहीं मिल पा रहा है। वहां केन्द्र सरकार रोजगार के अवसर बढ़ाने के बजाय धर्म के मुद्दे पर फोकस किए हुए हैं। हाल ही में पीएम मोदी ने अयोध्या में राम मंदिर निर्माण का शिलान्यास किया था। इस दौरान इस पूरे मुद्दे को जोर-शोर से प्रचारित किया गया था।

बता दें कि लॉकडाउन के दौरान लाखों लोगों के रोजगार छिन गए हैं। ना सिर्फ नौकरियां बल्कि छोटा मोटा रोजगार करने वाले लोग भी इस लॉकडाउन में रोजी-रोटी से हाथ धो बैठे हैं। अशोका यूनिवर्सिटी में अर्थशास्त्र के प्रोफेसर अश्विनी देशपांडे ने बीते दिनों एक स्टडी की थी, जिसमें खुलासा हुआ था कि लॉकडाउन के दौरान ना सिर्फ पुरुषों के रोजगार छिने ब्लकि रोजगार कर रही महिलाओं की संख्या में भी 23.5 फीसदी की भारी भरकम गिरावट आयी।

बता दें कि विजेंदर सिंह कांग्रेस पार्टी के टिकट पर बीता लोकसभा चुनाव भी लड़ चुके हैं। विजेंदर सिंह ने दक्षिणी दिल्ली से चुनाव लड़ा था, जहां उनका मुख्य तौर पर मुकाबला भाजपा के रमेश बिधूड़ी और आम आदमी पार्टी के राघव चड्ढा से था। इस चुनाव में विजेंदर सिंह को हार का सामना करना पड़ा था और रमेश बिधूड़ी यहां से सफल रहे थे।

उसके बाद से विजेंदर राजनीति में उतने सक्रिय तो नहीं है लेकिन अक्सर मोदी सरकार पर निशाना साधते रहते हैं। विजेंदर सिंह ओलंपिक में कांस्य पदक जीत चुके हैं और हरियाणा से ताल्लुक रखते हैं। विजेंदर ने तीन कॉमनवेल्थ गेम्स में भी देश के लिए पदक जीता था।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *