विकास दुबे के ‘भूत’ से डरी पुलिस? थाने में कराया हवन, वीडियो वायरल होने पर एसपी ने दी सफाई

[ad_1]

PATNA : विकास दुबे एनकाउंटर का भले 60 दिन हो गया हो, लेकिन पुलिस को यह एनकाउंटर पीछे नहीं छोड़ रहा है. ताजा मामला थाने में हवन कराने को लेकर है. दरअसल, विकास दुबे एनकाउंटर के बाद कानपुर पुलिस ने चौबेपुर थाने का शुद्धिकरण कराने के लिए मंगलवार को हवन किया. इसका वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है. मंगलवार को चौबेपुर थाने में पुलिसकर्मियों ने हवन पूजन का आयोजन किया. इस पूजन में कुछ पुलिसकर्मी ड्रेस में और कुछ सादी बर्दी में थे. बताया जा रहा है कि हवन के दौरान कई फरियादियों की फरियाद भी नहीं सुनी गई. हालांकि कानपुर के एसपी ने इसे खारिज किया है.
एसपी ने दी सफाई – वहीं इस पूरे मामले में एसपी ग्रामीण ब्रजेश कुमार ने बताया कि यह पूजा ऊक डेली रूटीन है. इसको विकास दुबे एनकाउंटर से जोड़ा जाना ठीक नहीं है. ब्रजेश कुमार ने आगे कहा कि फरियाद नहीं सुनने की बात गलत है.

हुआ था एनकाउंटर – विकास दुबे का 10 जुलाई को एनकाउंटर हुआ था. एनकाउंटर के वक्त कानपुर के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक दिनेश कुमार ने बताया, ‘तेज बारिश हो रही थी. पुलिस ने गाड़ी तेज भगाने की कोशिश की जिससे वह डिवाइडर से टकराकर पलट गयी और उसमें बैठे पुलिसकर्मी घायल हो गये. उसी मौके का फायदा उठाकर दुबे ने पुलिस के एक जवान की पिस्तौल छीनकर भागने की कोशिश की और कुछ दूर भाग भी गया.’ कुमार ने कहा, ‘तभी पीछे से एस्कार्ट कर रहे एसटीएफ के जवानों ने उसे गिरफ्तार करने की कोशिश की और उसी दौरान उसने एसटीएफ पर गोली चला दी जिसके जवाब में जवानों ने भी गोली चलाई और वह घायल होकर गिर पड़ा. हमारे जवान उसे अस्पताल लेकर गये जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया.’

गौरतलब है कि कानपुर एनकांउटर का मुख्य आरोपी कुख्यात गैंगस्टर विकास दुबे (Vikas Dubey) को गुरुवार की सुबह उज्जैन में गिरफ्तार किया गया. पांच लाख का इनामी विकास दुबे उज्जैन के महाकाल मंदिर में दर्शन के लिए गया था. वहां के गार्ड ने उसे पहचाना. उसकी पहचान होते ही वहां की पुलिस एक्शन में आयी और उसे वहीं धर दबोचा.

[ad_2]

Source link

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *