सावन में भोले की पूजा में हिंंदुओं के मददगार बन रहे मुसलमान भाई, कोरोना-काल में भाईचारे की मिसाल

सावन में भोले की पूजा में हिंंदुओं के मददगार बन रहे मुसलमान भाई, कोरोना-काल में भाईचारे की मिसाल : Sawan 2020: 6 जुलाई से भगवान शिव का पसंदीदा महीना सावन शुरू हो चुका है। हिंदू पंचांग के अनुसार साल का पांचवां महीना श्रावण का होता है। इन दिनों भक्तगण भगवान शिव की विशेष पूजा अर्चना करते हैं। कहा जाता है कि इस व्रत को करने से भगवान शिव प्रसन्न होकर अपने भक्तों की सभी मनोकामनाएं पूर्ण कर देते हैं।

सुखी वैवाहिक जीवन की कामना से भी सावन सोमवार व्रत रखने की मान्यता है। इस पूरे महीने में भगवान शिव की विशेष अराधना की जाती है। आमतौर पर भगवान शिव की पूजा शिवलिंग के रूप में की जाती है लेकिन इस कोरोना काल में मंदिरों में ज्यादा भीड़ जुटाने पर प्रतिबंध है। ऐसे में भक्त घर में ही पूजा कर रहे हैं। इस बीच, झारखंड में एक सामाजिक संगठन श्रद्धालुओं को जरूरी सामग्रियां पहुंचाने का कार्य कर रही हैं। बता दें कि इस संगठन में अधिकांश युवक मुस्लिम हैं।

यूथ कॉन्सेप्ट बांट रहे हैं दूध व अन्य जरूरी सामान: इस कोरोना काल में सामाजिक सौहार्द का एक उदाहरण झारखंड के सोशल ऑर्गनाइजेशन, यूथ कॉन्सेप्ट द्वारा देखने को मिल रहा है। इस संगठन में ज्यादातर मुस्लिम समुदाय के लोग हैं। सभी लोग सावन माह में भक्तों की मदद करने हेतु जरूरी सामान उन तक पहुंचा रहे हैं। सावन के पहले दिन इस संगठन ने झरिया टाउनशिप में शिव मंदिर के पास ही स्टॉल लगाकर भक्तों के बीच दूध व पानी वितरित किया।

पेड़ लगाने की देते हैं सलाह: यूथ कॉन्सेप्ट भक्तों की मदद करने के साथ ही उन्हें पौधे लगाने के लिए भी प्रेरित करता है। इन स्टॉल्स से दूध व पानी लेने वाले भक्तों के अनुसार इस संगठन के लोगों ने उनसे गुजारिश की है कि वो अपने नाम से एक गुलमोहर का पेड़ जरूर लगाएं। इससे दुनिया धीरे-धीरे ही सही लेकिन हरियाली की ओर बढ़ेगा।

साल 2007 में हुई शुरुआत: इस संगठन के एक सदस्य ने बताया कि त्योहारों के बीच पौधे रोपने का अभियान संगठन 2007 से ही कर रहा है। जबकि पिछले साल से ही सावन के महीने में दूध व अन्य जरूरी सामानों के लिए आसपास के प्रमुख शिव मंदिरों के पास स्टॉल्स लगाने की शुरुआत हुई। उनका कहना है कि भले ही इस बार ज्यादातर लोग घर में ही भगवान शिव की पूजा कर रहे हैं, लेकिन पूजन सामग्री हेतु कई लोग स्टॉल्स पर आ रहे हैं।

हिंदू धर्म में सावन है महत्वपूर्ण: यूथ कॉन्सेप्ट के अध्यक्ष असलम सदमानी के अनुसार इस अभियान को शुरू करके वो सामाजिक सौहार्द की मिसाल पेश करना चाहते थे। वो कहते हैं कि हिंदू भाइयों के लिए सावन का महीना बहुत ही पावन माना जाता है। ऐसे में जरूरी पूजन सामग्री उपलब्ध करवा कर वो समाज में आपसी एकता का संदेश स्थापित करना चाहते हैं।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *