सुशांत केस: घाटे में थी संदीप सिंह की कंपनी, फिर भी गुजरात सरकार ने साइन किया MoU

फिल्म अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत की जांच जारी है. इस पूरे मामले में एक नाम बार-बार आ रहा है, जिसे संदिग्ध नज़रिए से देखा जा रहा है. वो हैं खुद को सुशांत का दोस्त कहने वाले संदीप सिंह. संदीप के बीते दिनों भारतीय जनता पार्टी के नेताओं के साथ संबंध की बात सामने आई थी, अब गुजरात कांग्रेस ने एक बार फिर इस मामले को उछाला है.

कांग्रेस ने संदीप सिंह का गुजरात सरकार के साथ के संबंधों को लेकर फोटो भी जारी की हैं. कांग्रेस ने कहा कि गुजरात की बीजेपी सरकार ने संदीप की नुकसान कर रही कंपनी लिजेन्ड ग्लोबल के साथ वाइब्रेंट गुजरात-2019 में 177 करोड़ रुपये का MoU साइन किया था. दावा किया गया है कि बॉलीवुड एक्टर विवेक ओबरॉय इस कंपनी के सिर्फ तीन दिन के लिए डायरेक्टर भी बने थे.

कांग्रेस के प्रवक्ता मनीष दोशी का कहना है कि संदीप सिंह के रिश्ते भाजपा के नेताओं के साथ रहे हैं. गुजरात वाइब्रेंट समिट में 177 करोड़ का एमओयू साइन किया गया था, जो गुजरात टूरिज़्म के साथ फ़िल्म निर्माण और ब्रांडिंग का था. कांग्रेस का आरोप है कि चौंकाने वाली बात तो ये है कि संदीप सिंह की कंपनी 6 लाख रुपये का नुकसान कर रही थी, उस नुकसान करने वाली कंपनी के साथ एमओयू क्यों साइन किया गया.

साथ ही कांग्रेस के प्रवक्ता मनीष दोशी ने ये भी सवाल खड़े किए हैं कि राज्य के गरीब पारंपरिक कलाकार को मदद करने की जगह संदीप सिंह की कंपनी से इतना प्यार क्यों? कांग्रेस ने भी सवाल खड़े किए कि क्या प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बायोपिक फिल्म तैयार करने के लिए इस तरह के एमओयू को साइन किया गया था. भाजपा के किस नेता के आशीर्वाद से संदीप सिंह को सारे फायदे पहुंचाएं गए थे.

आपको बता दें कि इससे पहले भी कांग्रेस की ओर से संदीप सिंह की तस्वीर देवेंद्र फडणवीस के साथ दिखाकर सवाल दागे गए थे. हालांकि, संदीप सिंह ने रविवार को आजतक के साथ बात करते हुए कहा कि उनपर जो भी शक किया जा रहा है, वो गलत है. जब सुशांत की मौत हुई तो वह सबसे पहले फ्लैट पहुंचने वालों में थे, हालांकि उन्होंने कहा कि सुशांत का परिवार निजी तौर पर उन्हें नहीं जानता.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *