‘हाथ-पैर तोड़ दिए, सर फोड़ दिया, ये लोकतंत्र है?’- जामिया स्टूडेंट के ये सवाल हमें शर्मिंदा कर देंगे

नागरिका संशोधन एक्ट 2019 को लेकर पूरे देश में प्रोटेस्ट हो रहा है. दिल्ली के जामिया में भी छात्रों ने प्रोटेस्ट किया, पर रविवार 15 दिसंबर को जो हुआ, उसमें कई घा’यल हुए, तो कई की जा’न भी चली गई. मीडिया ने इस दौरान कई स्टूडेंट्स से बात की थी. इसी दौरान एक ऐसी स्टूडेंट मिली, जिसकी बातें अब सोशल मीडिया पर वायरल हो रही हैं.

लड़की का नाम अनुज्ञा है. उसके दोस्तों के साथ जो हुआ, उससे को बेहद दुखी है. रो-रोकर उसका बुरा हाल है. उसका कहना है कि स्टूडेंट्स सिर्फ प्रोटेस्ट ही कर रहे थे. फिर भी उन्हें मा’रा-पी’टा गया. उसका कहना है कि एजुकेशन घर पर बैठने के लिए तो दी नहीं जाती,  इसीलिए दी जाती है न कि अगर साथ वाले के साथ गलत हो रहा है तो  उसका साथ दिया जाए. पर यहां तो लोगों ने यूनिवर्सिटी के अंदर आकर तोड़फोड़ कर दी.

अनुज्ञा ने बताया कि स्टू़डेंट्स यूनिवर्सिटी को सबसे सेफेस्ट प्लेस मानते थे, पर यहां तो आज बॉयज और गर्ल्स हॉस्टल के अंदर आकर तोड़फोड़ की गई है, उसके बाद वो पूरे देश में खुद को सेफ फील नहीं कर रही है. उसने बताया कि बच्चे जान बचाने के लिए भाग रहे हैं. कई दोस्तों की जान चली गई, तो कई को चोट आई है. उसका सवाल है कि क्या यही डेमोक्रेसी है? क्योंकि वो तो मुस्लिम भी नहीं है, पर वो पहले दिन से इस प्रोटेस्ट कर रही है. अनुज्ञा ने और क्या-क्या कहा, आप खुद वीडियो देखिए-

इसके बाद कई लोगों ने अनुज्ञा को सपोर्ट किया. कुछ ने तो अनुज्ञा जैसा बनने को कह दिया. उसके इस वीडियो के बाद लोगों ने काफी ट्वीट भी किया है.

साभार : the lallantop

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *