513 करोड़ की लागत से बनेगा पटना में 1200 बेड वाला नया हॉस्पिटल, कैबिनेट बैठक में बिल पास

इंदिरा गांधी आयुर्विज्ञान संस्थान, शेखपुरा (आईजीआईएमएस) में 1200 बेड का नया अस्पताल भवन बनेगा। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अध्यक्षता में मंगलवार को हुई राज्य कैबिनेट की बैठक में यह निर्णय लिया गया। इस नए अस्पताल और आवासीय भवन के निर्माण तथा अन्य कार्य के लिए 513 करोड़ 21 लाख की प्रशासनिक स्वीकृति भी कैबिनेट ने दे दी है।

बैठक के बाद कैबिनेट के प्रधान सचिव दीपक प्रसाद ने कहा कि 1200 बेड के इस भवन के बनने के बाद आईजीआईएमएस की क्षमता 2732 बेड की हो जाएगी। वर्तमान में यह अस्पताल 1032 बेड का है। 500 अतिरिक्त बेड के अस्पताल भवन का निर्माण कार्य चल रहा है। बिहार चिकित्सा सेवाएं एवं आधारभूत संरचना निगम लिमिटेड से मिले एस्टीमेट और तकनीकी अनुमोदन के आधार पर 513.21 करोड़ की स्वीकृति दी गई है।

students, high school bihar, daily bihar, national news, india news, news in hindi, latest news in hindi, बिहार समाचार, bihar news, bihar news in hindi, bihar news hindi

इस अस्पताल में बेड की संख्या बढ़ जाने से एक साथ अधिक रोगियों को आवश्यक चिकित्सा सुविधा प्रदान की जा सकेगी। गौरतलब हो कि राज्य सरकार ने पटना मेडिकल कॉलेज अस्पताल (पीएमसीएच) को भी पांच हजार बेड बनाने का निर्णय लिया है। इस अस्पताल में अंतर्राष्ट्रीय स्तर की सुविधा प्रदान की जानी है। इसके लिए 5500 करोड़ से अधिक राशि खर्च की प्रशासनिक स्वीकृति दी जा चुकी है। पीएमसीएच के पूरे भवन को नये सिरे से चरणवार बनाया जाएगा। इधर नालंदा मेडिकल कॉलेज अस्पताल (एनएमसीएच) की बेड क्षमता बढ़ाने का निर्णय हो चुका है।

बी-एस फोर या इससे अधिक मानक वाले वाहनों के प्रदूषण प्रमाणपत्र की मान्यता 12 माह होगी। अन्य को 6 माह पर प्रमाणपत्र लेना होगा। अधिक प्रदूषण जांच केंद्र खोलने को इसके शुल्क में कमी की गई है। केंद्र स्थल परिवर्तन का शुल्क तीन हजार से एक हजार किया गया है। इन केंद्रों पर अब विज्ञान विषय से 12वीं उत्तीर्ण को भी रखा जा सकेगा। पहले तकनीकी शिक्षा वाले को रखा जाता था।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *