बिहार के मुज़ाफ़रपुर में सामने आया अजीब मामला, जांघ से 17 KG का ट्यूमर निकाला, 1 साल से नहीं बैठा

पटना में जांघ से 17 KG का ट्यूमर निकाला:एक साल से बैठा नहीं था मरीज, सोना तक मुश्किल हो गया था; IGIMS के डॉक्टरों ने 5 घंटे किया ऑपरेशन :

मुजफ्फरपुर के रहने वाले 57 साल के अनिल कुमार सिंह एक साल से बैठ नहीं पा रहे थे। पीठ के बल सोना और चलना भी मुश्किल हो गया था। अनिल की बायीं जांघ में पीछे की तरफ 17 किलो का ट्यूमर था। इंदिरा गांधी आयुर्विज्ञान संस्थान (IGIMS) स्थित राज्य कैंसर संस्थान के असिस्टेंट प्रोफेसर डॉ. शशि सिंह पवार की टीम ने 5 घंटे के ऑपरेशन में ट्यूमर को निकाल दिया। ऑपरेशन के बाद अनिल आराम से चल पा रहा है। डॉक्टरों का दावा है कि यहां अभी तक ऐसा मामला नहीं आया है।

मुख्यमंत्री अनुदान योजना के तहत उठाया खर्च
अनिल कुमार सिंह किसान हैं। उनकी आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है। डॉ. शशि सिंह पवार का कहना है कि एक साल पहले उसने कहीं सर्जरी कराई थी, लेकिन ट्यूमर घटने के बजाय और बढ़ता गया। अनिल को सारकोमा ट्यूमर था। पिछले महीने वे IGIMS आए तो जांच के बाद ऑपरेशन की सलाह दी गई। मुख्यमंत्री अनुदान योजना के तहत उनका ऑपरेशन किया गया। डॉ. शशि सिंह पवार ने बताया कि अनिल अब पूरी तरह ठीक है। सामान्य लोगों की तरह चल पा रहा है। सोमवार को उन्हें डिस्चार्ज कर दिया गया है। डॉ. शशि ने बताया कि सर्जरी में उनके साथ डॉ. मनीष, एनेस्थीसिया टीम से डॉ. विनोद वर्मा, डॉ. मुमताज और डॉ. विभा ने सहयोग किया। शिवानी और नेहा की नर्सिंग टीम ने सहयोग किया।

नस कटती तो काटना पड़ जाता पैर
डॉ. शशि का कहना है कि ट्यूमर रक्त वाहिकाओं के करीब था और अपने विशाल आकार के कारण ऑपरेशन बहुत जटिल हो गया था। रक्त वाहिकाओं को किसी भी तरह की क्षति होती तो पैर काटना पड़ जाता। ऐसे में काफी सावधानी से टीम के साथ ट्यूमर को काटकर अलग किया गया।

डेली बिहार न्यूज फेसबुक ग्रुप को ज्वाइन करने के लिए लिंक पर क्लिक करें….DAILY BIHAR  आप हमे फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और WHATTSUP, YOUTUBE पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं 

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *