32 साल पुराने मामले में पप्पू यादव की हुई है गिरफ्तारी, पटना से मधेपुरा लाने की हो रही है तैयारी

32 साल पुराने मामले में पप्पू यादव की गिरफ्तारी हुई है। उन्हें पटना से मधेपुरा लाने की तैयारी की जा रही है। सरकार चाहे तो क्या नहीं कर सकती। बस ऑक्सीजन नहीं दे सकती। उधर जनता से अपील करते हुए पप्पू यादव ने कहा है कि बिहार की जनता से मेरा आग्रह है कि अगर आप बिहार को बचाना चाहते हैं। बिहार में गौतम बुद्ध और महावीर के परोपकार की परंपरा को बचाना चाहते हैं। गरीबों और जरूरमंद लोगों की आवाज बुलंद रखना चाहते हैं। लोकतंत्र को बरकरार रखना चाहते हैं। तो प्रदेश भर में सरकार के इस रवैये के खिलाफ गिरफ्तारी को तैयार रहिए। आज मौका है, नहीं तो बाद में पछतावे के कुछ नहीं मिलेगा और सेवा व मदद को कोई नहीं आएगा।

नीतीश सरकार के सहयोगी जीतनराम मांझी और मुकेश मल्‍लाह ने पप्‍पू यादव की गिरफ्तारी का किया विरोध : बिहार के लोकप्रिय नेता पाप्पू यादव की गिरफ्तारी मामले में नीतीश कुमार सरकार (Nitish Kumar Government) में अलग-अलग राय सामने आई है. नीतीश सरकार में दो सहयोगी जीतन राम मांझी (Jitan Ram Manjhi) और मुकेश मल्लाह (Mukesh Sahani) ने पप्पू यादव की गिरफ़्तारी का विरोध किया है. पप्‍पू की गिरफ्तारी को लेकर‍ विरोध जताते हुए पूर्व सीएम जीतन राम मांझी ने कहा, ‘कोई जनप्रतिनिधि यदि दिन-रात जनता की सेवा करे और उसके ऐवज़ में उसे गिरफ़्तार किया जाए ऐसी घटना मानवता के लिए ख़तरनाक है.’ नीतीश सरकार में मंत्री मुकेश मल्‍लाह/साहनी ने भी इस मामले में जीतनराम मांझी की ही तरह राय जताई है. मुकेश ने ट्वीट किया, ‘जनता की सेवा ही धर्म होना चाहिए. पप्‍पू यादव को गिरफ्तार करना असंवेदनशील है.’

डेली बिहार न्यूज फेसबुक ग्रुप को ज्वाइन करने के लिए लिंक पर क्लिक करें….DAILY BIHAR

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *