बिहार में इस साल बनाए जाएंगे 54 रोड ओवरब्रिज, वर्षों से जारी सड़क जाम से मिल जाएगी मुक्ति

Desk: सबकुछ सरकारी घोषणा के हिसाब से चला तो दरभंगा शहर के लोगों को वर्षों से जारी सड़क जाम से मुक्ति मिल जाएगी। पथ निर्माण मंत्री नितिन नवीन ने कहा कि अगले वित्तीय वर्ष में राज्य सरकार 54 ओवरब्रिज बनाने जा रही है। इसमें दरभंगा शहर के सात ओवरब्रिज शामिल हैं। वे बुधवार को विधानसभा में विधायक संजय सरावगी के तारांकित सवाल का जवाब दे रहे थे। उन्होंने स्वीकार किया दरभंगा शहर के लिए ओवरब्रिज की योजना पुरानी है। लेकिन, तकनीकी अड़चनों के कारण अबतक निर्माण पूरा नहीं किया जा सका है। उन्होंने कहा निर्माण के लिए अगले तीन महीने में प्रशासनिक स्वीकृति मिल जाएगी।

चार साल पहले रेलवे ने दी थी स्‍वीकृति

सरावगी का कहना था कि चार साल पहले रेलवे ने आरओबी की स्वीकृति दी थी। अबतक निर्माण न होने के कारण नगर के लोगों को काफी परेशानी हो रही है। लोग चौबीस घंटे जाम से परेशान रहते हैं। दरभंगा में ये आरओबी दोनार, यूजियम गुमती, दिल्ली मोड़ के निकट के रेल फाटकों के अलावा अन्य हिस्से में बनेंगे।

इन जिलों में होगा आइटीआई भवनों का निर्माण

भवन निर्माण मंत्री डा. अशोक चौधरी ने राजद के भाई वीरेंद्र के एक अल्पसूचित के जवाब में कहा कि नौबतपुर, निर्मली, मंझौल, बगहा, वैशाली, गोपालगंज, तेघड़ा, औरंगाबाद, कौवाकौल और लखीसराय में जल्द ही आइटीआइ भवनों का निर्माण हो जाएगा। इन जगहों में भवन निर्माण की योजना पिछले तीन वर्षों से लंबित है।

सरकारी विभागों में कम हैं इंजीनियर

जल संसाधन मंत्री संजय झा ने विधायक विजय कुमार सिंह के एक तारांकित के जवाब में कहा कि विभाग में इंजीनियरों की कमी है। कुल 355 स्वीकृत पद के विरूद्ध 260 इंजीनियर कार्यरत हैं। बिहार लोक सेवा आयोग में इस समय इंजीनियरों का साक्षात्कार चल रहा है। अप्रैल तक विभाग को अपेक्षित संख्या में इंजीनियर मिल जाएंगे। औरंगाबाद में एग्जक्यूटिव इंजीनियर के पांच पद हैं। इनमें से सिर्फ एक रिक्त है। नई बहाली होने के बाद यह कमी भी पूरी हो जाएगी।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.