किसान की बेटी के खाते में आए 9 करोड़ 99 लाख रुपये, पीएम आवास के लिए दिया था अकाउंट नंबर

आज हम आपको एक ऐसी घटना के बारे में बताने जा रहे हैं जो अविश्वनीय है। एक किसान की बेटी ने पीएम आवास के लिए अपना खाता नंबर दिया तो उसके अकाउंट में आ गए 9 करोड 99 लाख। यह घटना बलिया जिले के रकुन पुरा की है। जब रकुन पुरा की एक किशोरी के खाते में ₹100000000 आ जाने से हड़कंप मच गया। इस घटना के बाद किशोरी अपनी मां के साथ बैंक पहुंची तो बैंक कर्मियों ने इसकी पुष्टि की, उसके अकाउंट में ₹100000000 आ गए हैं।
किशोरी की समस्या बढ़ी हुई है बैंक नें लेनदेन पर रोक लगा दी है। किशोरी ने इस मामले को हल्के में नहीं लिया है किशोरी ने बांसडीह रिपोर्ट लिखवाई है, और कार्यवाही करने के लिए अनुरोध किया है। किशोरी सरोज के पिता रकून पूरा के सूबेदार है। सरोज का इलाहाबाद बैंक की बांसडीड मे खाता है।
बैंक कर्मियों ने सरोज को जानकारी दी की सरोज के अकाउंट में 9 करोड़ 99 लाख 4000 हजार 700 ₹36 हैं। खाते की जानकारी देते हुए बैंक कर्मियों द्वारा पता चला की बैंक खाते से कई बार लेनदेन भी हुआ है।


जिसे सुनकर सरोज के होश उड़ गए, इस घटना को सुनकर सरोज ने इसके बारे में कोतवाली में बताया। फिर वह बासडीड कोतवाली पहुंची और पुलिस को पूरी घटना के बारे में बताया,इतना ही नहीं सरोज ने शिकायती पत्र द्वारा अपील भी किया।
जानकारी के मुताबिक इलाहाबाद बैंक में 2018 में उसका खाता खुला। घटना की जानकारी देते हुए सरोज ने बताया 2 साल पहले कानपुर देहात में जनपद ग्राम पाकरा पोस्ट बाधिर के किसी निलेश कुमार नाम के व्यक्ति ने सरोज को फोन कर पीएम आवास दिलाने के लिए कहा, आवास दिलाने के नाम पर आधार कार्ड फोटो आदि उपलब्ध कराने को कहा। यह बात सुनकर सरोज ने आधार कार्ड और फोटो कॉपी और जरूरी कागजात उस व्यक्ति द्वारा बताए गए पते पर भेज दिया। उसके बाद सरोज को डाक द्वारा एटीएम कार्ड भी मिल गया। फिर नीलेश ने सरोज से उसका एटीएम कार्ड मांगा, तो बिना सोचे सरोज ने निलेश को डाक द्वारा एटीएम भेज दिया। इतना ही नहीं सरोज ने निलेश को अपना पिन भी बता दिया। चौकाने वाली घटना के बाद सरोज ने अपने द्वारा लिखे शिकायती पत्र में पैसे के लेन देन के बारे में अनभिज्ञता जताई है। सूत्रों के अनुसार सरोज का कहना है कि उसे नहीं पता यह लेनदेन कहां से हुआ? कैसे हुआ? सरोज पूरी तरह इस घटना से अनजान है।सरोज ने यह भी कहा कि उसको इस धनराशि से कोई मतलब नहीं है।
जिस नंबर से निलेश से सरोज की बात होती थी, वह नंबर बंद आ रहा है। कोतवाली के निरीक्षक राजेश कुमार सिंह ने घटना की जानकारी देते हुए बताया पुलिस इस घटना की बहुत अच्छे से छानबीन कर रही है। बहुत जल्द ही सच का पता चल जाएगा, और जांच पूरी हो जाने पर आवश्यक कार्यवाही की जाएगी। पुलिस इस पूरे मामले की छानबीन में लगी हुई है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *