दिल्ली से अधिक खराब है पटना में वायु प्रदूषण, जाम के कारण जहरीला गैस ले रहे हैं बिहार के लोग

तीन दिनों से पटना में लग रहे भीषण जाम के कारण वायु प्रदूषण 9 महीने के बाद दिल्ली से भी अधिक हो गया है। लगातार दूसरे दिन शहर के एक्यूआई लेवल बहुत खराब स्थिति में है। लोग राहत की सांस नहीं ले पा रहे हैं। गुरुवार को वायु प्रदूषण के मामले में पटना देश के टॉप शहरों में भी शामिल हो गया है। दिल्ली में करीब 40 एक्यूआई लेवल मापने वाली मशीन के 24 घंटे का एक्यूआई लेवल 302 रहा, जबकि पटना के पांच-छह एक्यूआई मापने वाली मशीनों के 24 घंटे का एवरेज एक्यूआई लेवल 319 रहा। वहीं बुधवार को पटना का एक्यूआई लेवल 316 रहा था। वहीं मुजफ्फरपुर का एक्यूआई लेवल 274 और गया का 136 रहा।

दिल्ली : 6 दिन में हवा 4 दिन बहुत खराब/दिनांक एक्यूआई लेवल/21 नवंबर-353 बहुत खराब/22 नवंबर-274 खराब/23 नवंबर-295 खराब/दिनांक एक्यूआई लेवल24 नवंबर-379बहुत खराब/25 नवंबर-413बहुत खराब/26 नवंबर-302 बहुत खराब

पटना : 6 दिन में 2 दिन ही हवा ठीक-ठाक/दिनांक एक्यूआई लेवल/21 नवंबर-186 ठीक-ठाक/22 नवंबर-166 ठीक-ठाक/23 नवंबर-252खराब/दिनांक एक्यूआई लेवल24 नवंबर-288खराब/25 नवंबर-316बहुत खराब/26 नवंबर-319बहुत खराब

देश के प्रमुख शहरों का एक्यूआई लेवल/पटना-319/दिल्ली-302/नोयडा-301/लखनाउ-375/कानपुर-390/ग्वालियर-340/गाजियाबाद-301/फरिदाबाद-312

जानिए किस एरिया में लोग कैसी हवा में ले रहे हैं सांस/गांधी मैदान-274/तारामंडल-374/इको पार्क-298/बीआईटी मेसरा-263/डीआरएम ऑफिस-404/पटना सिटी-303

दानापुर, पटना सिटी और तारामंडल इलाकों में सबसे अधिक वायु प्रदूषण
उपाय क्या?ईंट-भट्‌ठा और निर्माण कार्यों पर भी लगे रोक

राजधानी में लगातार वायु प्रदूषण बढ़ रहा है। इससे बच्चे, बुजुर्ग, गर्भवती महिला और बीमार लोगों की परेशानी बढ़ गई है। सरकार को चाहिए कि ईंट-भट्‌ठा और निर्माण कार्यों पर तत्काल रोक लगाए। साथ ही सड़कों पर पानी का छिड़काव करे। डीजल वाहनों पर लगाम लगाए। इससे वायु प्रदूषण में कमी आ सकती है। -अंकिता ज्योति, सीड के वायु प्रदूषण विशेषज्ञ

दानापुर, तारामंडल और पटना सिटी इलाकों में रहने वाले लोग गुरुवार को भी स्वच्छ हवा में सांस नहीं ले सके। यहां की हवा में सबसे अधिक प्रदूषण पाया गया। दानापुर डीआरएम ऑफिस के पास एक्यूआई लेवल गंभीर स्थिति में पहुंच गया। इन तीनों इलाकों में रहने वाले लोग बहुत खराब हवा में सांस ले रहे हैं। वहीं गांधी मैदान, ईको पार्क और बीआईटी मेसरा के पास चलने वाली हवा खराब की श्रेणी में है। यहां दानापुर, पटना सिटी और तारामंडल की तुलना में वायु प्रदूषण कम है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *