मोदी समर्थकों को बिहार के नंबर 1 पत्रकार अजीत अंजुम का जवाब, मेरी चिंता मत करो, अपनी सोचो…

कुछ अंधभक्त, कुछ परमभक्त और कुछ चरमभक्त टाइप के नफरती लोग मेरे पेज पर सिर्फ गाली देने या उटपटांग लिखने के लिए आते हैं . उल्टी करके चले जाते हैं .उन सबसे यही कहना है कि यूं ही आते रहिए . आपके माता पिता ने जो संस्कार दिए हैं ,उसपर नफरत का लेप चढ़ गया है .

क्या पता आपकी परवरिश भी ऐसे ही माहौल में हुई हो . लिहाजा आपका कोई कसूर नहीं है . मेरी सहानुभूति आपके साथ है . लगे रहिए .
और हां , मेरी ज्यादा चिंता मत करिए .मैं जिंदगी के सबसे आज़ाद दौर से गुजर रहा हूं . किसी भी तरह के नियंत्रण से परे . अपनी मर्जी का मालिक .

देश – प्रदेश और आस – पास के परिवेश में घुलती नफरती हवाओं से कभी – कभी चिंतित जरूर होता हूं लेकिन हौसले इतने बुलंद हैं कि आप जैसे लाखों लोग पीछे पड़ जाएं तो भी सीधा ही खड़ा मिलूंगा .
जय हिंद

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.