कोरोना में बढ़ती परेशानियों के बीच हवाई जहाज से पुष्प वर्षा का क्या औचित्य : अखिलेश यादव

PATNA : कोरोना महामारी से मुकाबले में त्याग और बलिदान की कथा लिख रहे कोरोना वारियर्स के सम्मान में रविवार को भारतीय वायु सेना (IAF) देश के कई हिस्सों में फूलों की बारिश की गई. जिसपर सवाल उठाते हुए समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने पूछा है कि जब कोरोना संक्रमण में लोगों की परेशानियां बढ़ रही हैं और मजदूरों तक से भाड़े का पैसा वसूला जा रहा है, ऐसे में हवाई जहाज से पुष्प वर्षा का क्या औचित्य है?

उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा, “उप्र के विभिन्न कवॉरेंटाइन सेंटर्स से बद-इंतज़ामी की ख़बरें आ रही है. कहीं इसके ख़िलाफ़ भूख हड़ताल पर बैठी महिलाओं को शासन-प्रशासन की ध’मकी मिली, कहीं खाने-पीने के सामान की कमी की शिकायत के बदले व्यवस्था को सुधारने का थोथा आश्वासन, ऐसे में हवाई जहाज से पुष्प वर्षा का क्या औचित्य?”

अखिलेश यहीं नहीं रुखते है। अपने एक ट्वीट में वह कहते हैं, ‘अब तो भाजपा के आहत समर्थक भी ये सोच रहे हैं कि अगर समाज के सबसे ग़रीब तबके से भी घर भेजने के लिए सरकार को पैसे लेने थे तो PM Cares Fund में जो खरबों रुपया तमाम दबाव व भावनात्मक अपील करके डलवाया गया है उसका क्या होगा? अब तो आरोग्य सेतु एप से भी इस फंड में 100 रु वसूलने की ख़बर है।’

अपने एक और ट्वीट में सपा अध्यक्ष लिखते हैं, ‘ट्रेन से वापस घर ले जाए जा रहे गरीब, बेबस मज़दूरों से भाजपा सरकार द्वारा पैसे लिए जाने की ख़बर बेहद शर्मनाक है. आज साफ़ हो गया है कि पूँजीपतियों का अरबों माफ़ करनेवाली भाजपा अमीरों के साथ है और गरीबों के ख़िलाफ़। विपत्ति के समय शोषण करना सूदखोरों का काम होता है, सरकार का नहीं।’

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *