अमित शाह बने महराष्ट्र के चाणक्य, असंभव को कर दिखाया संभव

New Delhi: महाराष्ट्र की सियासत में बडा़ उलटफेर हो गया है। बीजेपी और एनसीपी ने महाराष्ट्र में मिलकर सरकार बना ली है। देवेंद्र फडणवीस को दोबारा राज्य की कमान सौंप दी गई हैै। फडणवीस के साथ शरद पवार के भतीजे अजित पवार ने भी डिप्टी सीएम की शपथ ली है। राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने उन्हें पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई।

बता दें कि कल शुक्रवार को नई सरकार के मुख्यमंत्री पद के लिए उध्दव ठाकरे के नाम पर सहमत बनी थी। इस बात का ऐलान खुद एनसीपी चाफ शरद पवार ने किया था। इसके बाद ही संजय राउत ने भी कहा था कि उध्दव ठाकरे मुख्यमंत्री पद स्वीकार करने के लिए तैयार हैं। नेहरू सेंटर में हुई तीनों दलों की बैठक ढाई से तीन घंटे तक चली थी।

बता दें कि इससे पहले कांग्रेस, राकांपा और शिवसेना के शीर्ष नेताओं की लंबी बैठक से निकलते हुए पवार ने कहा कि ठाकरे के नेतृत्व पर सहमति बनी है। वर्ली में नेहरू केंद्र में हुई बैठक के बाद पवार ने कहा कि अन्य मुद्दों पर चर्चा चल रही है। राकांपा प्रमुख ने कहा, ‘नेतृत्व का मुद्दा अब लंबित नहीं है। मुख्यमंत्री पद के लिए दो तरह की कोई राय नहीं थी। इस बात पर सहमति बनी है कि उद्धव ठाकरे नई सरकार का नेतृत्व करें।’ सवाल किया गया कि उद्धव ठाकरे मुख्यमंत्री होंगे, तो पवार ने जवाब दिया, ‘आप हिन्दी नहीं समझते हैं? नई सरकार का नेतृत्व उद्धव ठाकरे करेंगे।’

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.