टीम इंडिया के कोचिंग स्टाफ के लिए मांगे गए आवेदन, हेड कोच के लिए BCCI ने लगाई कड़ी शर्तें

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) टीम इंडिया के मुख्य कोच और सहयोगी स्टाफ पद के लिए आवेदन मांगे हैं। बता दें कि मौजूदा कोच रवि शास्त्री का कार्यकाल वर्ल्ड कप के बाद समाप्त हो चुका है, लेकिन वेस्टइंडीज दौरे को देखते हुए इसे 45 दिन के लिए बढ़ाया गया था। मुख्य कोच के अलावा बैटिंग, बॉलिंग और फील्डिंग कोच के लिए भी एप्लीकेशन मंगवाई गई हैं। आवेदकों को 30 जुलाई तक आवेदन देना होगा और मौजूदा कोचिंग स्टाफ को ऑटोमैटिक एंट्री मिल जाएगी।

बोर्ड के मुताबिक, मुख्य कोच के लिए उम्र की सीमा 60 साल है और उसे कम से कम 2 साल का अंतरराष्ट्रीय अनुभव होना चाहिए। इसके अलावा हेड कोच वही व्यक्ति बन सकता है, जिसके पास कोचिंग में लेवल-3 का क्वालिफिकेशन हो। अगर वह उसके पास यह क्वालिफिकेशन नहीं है तो उसके पास कम से कम 30 टेस्ट या 50 वनडे का अनुभव होना चाहिए।

Image result for रवि शास्त्री

टीम इंडिया का वेस्टइंडीज दौरा 3 अगस्त से 3 सितंबर तक है। इसके बाद गेंदबाजी कोच भरत अरुण, बल्लेबाजी कोच संजय बांगड़ और फील्डिंग कोच आर. श्रीधर का भी कार्यकाल खत्म हो जाएगा। ये सभी फिर से आवेदन कर सकते हैं। दूसरी ओर टीम इंडिया के ट्रेनर शंकर बसु और फीजियो पैट्रिक फरहार्ट वर्ल्ड कप के बाद अपना पद छोड़ चुके हैं। उनकी जगह नए ट्रेनर और फीजियो का भी चयन होना है।

बीसीसीआई के एक पदाधिकारी ने कहा, ‘हमारी वेबसाइट पर एक या दो दिन में इन पदों के लिए विज्ञापन जारी किया जाएगा। सहयोगी स्टाफ के अलावा टीम मैनेजर पद के लिए भी नए सिरे से आवेदन मंगाए जाएंगे।’ तमिलनाडु के पूर्व कप्तान सुनील सुब्रमण्यम को 2017 में टीम मैनेजर बनाया गया था, लेकिन अब उनका कार्यकाल आगे नहीं बढ़ाया गया।

गौरतलब है कि शास्त्री 2017 में अनिल कुंबले की जगह कोच बने थे। उनकी कोचिंग में भारतीय टीम आईसीसी का कोई बड़ा टूर्नामेंट नहीं जीत सकी। इसमें वर्ल्ड कप भी शामिल है। हालांकि ऑस्ट्रेलिया में पहली बार टेस्ट सीरीज जीतने में जरूर कामयाब रही।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *