बुरे फंसे गहलोत, ना कांग्रेस का राष्ट्रीय अध्यक्ष बनेंगे ना CM रह पाएंगे, सोनिया के साथ बैठक खत्म

आखिरकार जिसका डर था वही हुआ, अशोक गहलोत ने अपनी एक गलती से अपने ही पैर पर कुल्हाड़ी मार लिया। आज सोनिया गांधी के साथ बैठक खत्म होने के बाद उन्होंने कहा कि मैं कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए चुनाव नहीं लड़ रहा हूं। मैं मुख्यमंत्री रहूंगा या नहीं इस बात का फैसला सोनिया मैडम करेगी। विगत कुछ दिनों से राजस्थान में जो हुआ वह सही नहीं था। मैंने सोनिया गांधी से मिलकर माफी मांग ली है। मैंने उन्हें कहा है कि मैं अध्यक्ष पद पर चुनाव नहीं लड़ रहा हूं। कार्यकर्ताओं में गलत मैसेज गया है। मैं कभी नहीं चाहता था कि मैं अध्यक्ष के साथ-साथ सीएम बना रहूं।

गहलोत ने कहा कि हमारे यहां हमेशा से कायदा रहा कि हम आलाकमान के लिए एक लाइन का प्रस्ताव पास करते हैं। मुख्यमंत्री होने के बावजूद मैं यह एक लाइन का प्रस्ताव पास नहीं करवा पाया, इस बात का दुख रहेगा। इस घटना ने देश के अंदर कई तरह के मैसेज दे दिए।

गहलोत जब सोनिया से मिलने जा रहे थे तो उनके हाथ में कुछ कागज थे। उसमें हाथ से लिखा हुआ माफीनामा था। यह कैमरे में कैद हो गया। इसमें हाथ से कुछ पॉइंट्स लिखे हुए थे। जिसमें सबसे ऊपर था ‘जो कुछ हुआ उसका दुख है, इससे मैं बहुत आहत हूं’। इसके साथ ही तीसरे पॉइंट पर सचिन पायलट(SP), सीपी जोशी(CP) सहित चार लोगों के नाम शॉर्ट फॉर्म में भी लिखे हुए थे।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *