‘आत्मनिर्भर नारीशक्ति से संवाद’ कार्यक्रम में भाग लेंगे पीएम मोदी, 1625 करोड़ की सहायता राशि भी करेंगे जारी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज दोपहर 12:30 बजे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए ‘आत्मनिर्भर नारीशक्ति से संवाद’ में भाग लेंगे और दीनदयाल अंत्योदय योजना-राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन (डीएवाई-एनआरएलएम) के तहत पदोन्नत महिला स्वयं सहायता समूह (एसएचजी) के सदस्यों के साथ भी बातचीत करेंगे। इस मौके पर पीएम मोदी 4 लाख से अधिक एसएचजी को 1,625 करोड़ रुपये की पूंजीकरण सहायता राशि जारी करेंगे। पीएम फॉर्मलाइजेशन ऑफ माइक्रो फूड प्रोसेसिंग एंटरप्राइजेज के तहत आने वाले 7,500 एसएचजी समूहों के लिए 25 करोड़ की आरंभिक धनराशि भी जारी करेंगे।

पीएम मोदी ने ट्वीट कर बताया, “भारत में बड़ी संख्या में स्वयं सहायता समूह हैं जो महिला सशक्तिकरण में महत्वपूर्ण योगदान दे रहे हैं। ये ‘आत्मनिर्भर नारीशक्ति से संवाद’ में भाग लेंगे। कार्यक्रम के दौरान, मुझे महिला एसएचजी सदस्यों के साथ बातचीत करने का अवसर मिलेगा। विभिन्न एसएचजी को विकासात्मक सहायता भी जारी की जाएगी। इससे इन समूहों के कामकाज को गति मिलेगी और अधिक महिलाएं राष्ट्रीय कल्याण में योगदान करने में सक्षम होंगी।”

प्रधान मंत्री कार्यालय (पीएमओ) के मुताबिक, कार्यक्रम के दौरान देश भर से महिला एसएचजी सदस्यों की सफलता की कहानियों का संकलन, साथ ही कृषि आजीविका के सार्वभौमिकरण पर एक किताब भी प्रधान मंत्री द्वारा जारी की जाएगी।

पीएमओ के मुताबिक निशन स्व-सहायता समूहों से जुड़ी महिलाओं को शक्तिशाली बना रहा है। मिशन घरेलू हिंसा, महिला शिक्षा, और लैगिंक मुद्दों, पोषण, स्वच्छता, स्वास्थ्य आदि से जुड़े मुद्दों के प्रति जागरूक बना रहा है और उनकी समझ व व्यवहार विकसित कर रहा है।

पीएमओ के अनुसार, योजना का उद्देश्य ग्रामीण गरीब परिवारों को चरणबद्ध तरीके से स्वयं सहायता समूहों (एसएचजी) में शामिल करना और उनकी आजीविका में विविधता लाने, उनकी आय और जीवन की गुणवत्ता में सुधार के लिए दीर्घकालिक सहायता प्रदान करना है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *