पटना जू के बाहर खुलेगा बंबू रेस्टोरेंट, रात में ले सकेंगे लजीज व्यंजनों का मजा

Desk: रात में लजीज व्यंजनों की चाह रखने वालों के लिए अच्छी खबर है। पटना जू के गेट नम्बर एक के बाहर वाहन पार्किंग परिसर में एक खूबसूरत बंबू रेस्टोरेंट खुलने जा रहा है। इसकी खासियत होगी कि लोग दिन के अलावा रात के नौ बजे तक लजीज व्यंजनों का लुत्फ उठा सकेंगे। जू प्रशासन ने इसकी योजना बनाई है। पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन विभाग को इसका प्रस्ताव स्वीकृति के लिए भेजा जाएगा। स्वीकृति मिलते ही इसका निर्माण कार्य शुरू हो जाएगा। संभावित है कि जल्द ही यह रेस्टोरेंट खुलेगा।

जू आने वाले दर्शकों के लिए भी खानपान का बेहतर ठिकाना होगा। दर्शक जब जू भ्रमण कर बाहर निकलेंगे तो बंबू रेस्टोरेंट में कुछ देर समय बिताकर परिवार संग व्यंजनों का आनंद ले सकेंगे। अभी दर्शकों को जू के बाहर लगे ठेले-खोमचे की दुकानों पर खाना-पीना पड़ता है। जू प्रशासन का मानना है कि पार्किंग परिसर में काफी जगह खाली पड़ी है, जिसके लिए रेस्टोरेंट उपयुक्त जगह है। यह चारों ओर घिरा है। यहां आने वाले लोगों को पार्किंग में भी दिक्कतें नहीं होगी और लोग प्राकृतिक माहौल में व्यंजनों का स्वाद ले सकेंगे।

जू के अंदर का रेस्टोरेंट जल्द खुलेगा
जू के अंदर का स्थाई रेस्टोरेंट जल्द खुलेगा। उसके लिए निविदा निकाली गई है। यह रेस्टोरेंट लॉकडाउन से बंद पड़ा है। यह दो फ्लोर का रेस्टोरेंट है। इस बार इसका सिर्फ ग्राउंड फ्लोर खानपान इस्तेमाल के लिए खुलेगा। प्रथम फ्लोर प्रतिबंधित रहेगा। रेस्टोरेंट के बाहर खुले आसमान के नीचे पहले की तरह दर्शक खानपान कर सकेंगे। इस एरिया को सुंदर बनाया जाएगा। बंबू इनक्लोजर के रूप में विकसित किया जाएगा। दर्शक एक खूबसूरत माहौल में व्यंजनों का आनंद ले सकेंगे। लंबे समय से इस रेस्टोरेंट के बंद रहने से दर्शकों को खानपान में काफी असुविधा हो रही है। दर्शक बाहर निकलने के बाद ही कुछ खा पी सकते हैं। ऐसे जू में एक सुधा काउंटर खुला है।

जू के गेट नंबर एक के बाहर वाहन पार्किंग में बंबू रेस्टोरेंट बनाए जाएंगे। यह रेस्टोरेंट दिन के अलावा रात के नौ बजे तक खुला रहेगा। रेस्टोरेंट में हर तरह के व्यंजन मिलेंगे। पटनावासी और जू भ्रमण के लिए आने वाले दर्शक प्राकृतिक माहौल में खानपान का आनंद उठा सकेंगे। -सत्यजीत कुमार, निदेशक जू

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *