बीसीसीआई ने किया घरेलू क्रिकेटरों की मैच फीस में बढ़ोत्तरी का ऐलान, जूनियरों को भी बड़ा फायदा

पिछले करीब दो साल से कोविड-19 की मार झेल रहे घरेलू क्रिकेटरों को भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) ने बड़ा तोहफा दिया है. बोर्ड ने केवल साल 2019-20  सेशन के लिए क्षतिपूर्ति राशि का ऐलान किया है, बल्कि खिलाड़ियों की मैच फीस में भी इजाफा कर दिया गया है, जो खासा नुकसान झेलने वाले घरेलू क्रिकेटरों के जख्मों पर ही नहीं, बल्कि अंडर-19 और अंडर-16 सहित महिला क्रिकेटरों के जख्मों पर भी मरहम लगाने काम करेगा. बता दें कि क्षतिपूर्ति राशि और बढ़ी हुई मैच फीस अंडर-19 और अंडर-16 क्रिकेटरों को भी मिलेगी. 

कोविड-19 के कारण साल 2019-20 का लगभग पूरा सत्र ही रद्द हो गया था. रणजी ट्रॉफी के मुकाबले नहीं खेले जा सके थे. टी20 का राष्ट्रीय सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी हुयी जरूर थी, लेकिन खिलाड़ियों की मैच फीस का भुगतान नहीं हुआ था. ऐसे में कई घरेलू क्रिकेटर खेल छोड़कर और दूसरे कामों में लग गए थे, लेकिन अब बीसीसीआई  की एक्सीक्यूटिव काउंसिल ने थोड़ा देर से निर्णय लिया है, लेकिन एक बढ़िया फैसला किया है, जो इन क्रिकेटरों को जरूर खुशी प्रदान करेगा. 

बता दें कि पहले रणजी ट्रॉफी मुकाबले के लिए हर दिन के लिए प्लेइंग इलेवन के खिलाड़ी को प्रतिदिन 35,000 रुपये का भुगतान किया जाता था, जबकि रिजर्व खिलाड़ी 17,500 रुपये दिए जाते थे, लेकिन इस साल होने वाले सीजन से प्लेइंग इलेवन के सदस्य को प्रति दिन के लिए 40,000 (1 से 40 मैच), 50,000 (21 से 40 मैच खेलने वाले) और 60,000 रुपये (40 से ज्यादा मैच) दिए जाएंगे. वहीं, रिजर्व खिलाड़ी ( 1 से 40 मैच खेलने वाले) को 20, 000 (1 से 20 मैच) और 25,000 (21 से 40 मैच) और 30,000 रुपये (40 से ज्यादा मैच) दिए जाएंगे. चलिए बाकी कैटेगिरयों पर भी नजर दौड़ा लें

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.