86 वर्ष बाद कोसी नदी के उपर से गुजरी ट्रेन, अधिकारियों पर लोगों ने बरसाए फूल

Patna: रेलवे के मुख्य सुरक्षा आयुक्त शैलेश कुमार पाठक ने गुरुवार को सरायगढ़ से आसनपुर-कुपहा तक बने नए रेलखंड का सीआरएस निरीक्षण किया. स्पेशल ट्रेन से रायगढ़ रेलवे स्टेशन पर गुरुवार के सवेरे पहुंचे चीफ कमिश्नर रेल सुरक्षा ने पहले नवनिर्मित सरायगढ़-जंक्शन का गहन निरीक्षण किया और इस दौरान उन्होंने अधीनस्थ अधिकारियों और कर्मियों को कई आवश्यक निर्देश दिए. रेलखंड का निरीक्षण करने से पहले उन्होंने सरायगढ़ जंक्शन के टिकट घर, कॉमन रूम, प्लेटफार्म, बिजली व्यवस्था सहित अन्य व्यवस्थाओं को घूम-घूम कर देखा तथा जहां कहीं कमी नजर आई उसके बारे में अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए.

स्टेशन निरीक्षण के बाद प्लेटफार्म के ठीक दक्षिणी छोर पर चीफ कमिश्नर ने सीआरएस बृज किशोर प्रसाद, डीआरएम महेश्वरी हजारी सहित अन्य अधिकारियों के साथ नए रेल पटरी की विधिवत पूजा की. सुपौल से पहुंचे पंडित ने वैदिक मंत्रोच्चार के साथ सरायगढ़ से आसनपुर जाने वाली रेल पटरी पर करीब 45 मिनट तक विधिवत पूजा पाठ किया. पूजा के बाद चीफ कमिश्नर, सीएओ तथा डीआरएम ने बारी-बारी से नारियल फोड़ा तथा लोगों के बीच प्रसाद का वितरण किया. उसके बाद मोटर ट्रॉली से रेलखंड का तथा कोसी नदी पर बने रेल ब्रिज का निरीक्षण करने निकले. मोटर ट्रॉली से निरीक्षण के दौरान चीफ कमिश्नर सहित अन्य अधिकारी जगह-जगह रुककर रेल पटरी की जांच करते गए. कोसी रेल महासेतु पर काफी देर तक निरीक्षण किया. इस दौरान अधिकारियों ने 86 वर्ष बाद कोसी नदी पर बने रेल महासेतु को लेकर लोगों को भी जानकारी दी. महासेतु के बाहर आसनपुर-कुपहा नए रेलवे हाल्ट तक पहुंचे. चीफ कमिश्नर ने रेलवे हाल्ट का भी निरीक्षण किया. इस दौरान उन्होंने कहा कि सरायगढ़ से आसनपुर-कुपहा तक नई रेल लाइन तथा कोसी ब्रिज का निरीक्षण कार्य पूरा होने के बाद उक्त रेलखड पर रेल परिचालन का निर्णय लिया जाएगा. पूछने पर चीफ कमिश्नर ने कहा कि कल 14 अगस्त को सरायगढ़ से राघोपुर रेलवे स्टेशन के बीच निरीक्षण का कार्य होगा. निरीक्षण कार्य पूर्ण होने के बाद दोनों रेलखंड पर रेल परिचालन के बारे में ऊपरी स्तर पर निर्णय लिए जाएंगे.

गाजे-बजे के साथ हुआ चीफ कमिश्नर का स्वागत

लंबे समय बाद सरायगढ़ रेलवे जंक्शन से कोसी नदी को पार कर मिथिलांचल के दूसरे छोर को जोड़ने हेतु आसनपुर कुपहा रेल पटरी का निर्माण तथा रेल ब्रिज बनने के बाद उसके निरीक्षण में पहुंचे चीफ कमिश्नर रेल सुरक्षा शैलेश कुमार पाठक, सीआरएस बृज किशोर प्रसाद, डीआरएम महेश्वरी हजारी सहित रेलवे के कई अधिकारियों का गाजे-बाजे के साथ लोगों ने स्वागत किया. जैसे ही पदाधिकारी प्लेटफार्म पर पहुंचे कि सरायगढ़ के निवासियों ने उन सभी का भव्य स्वागत किया. इस दौरान भाजपा नेता देवचंद्र कुमार मुखिया ने चीफ कमिश्नर, सीआरएस पदाधिकारी तथा डीआरएम को चादर-पाग और माला पहनाकर स्वागत किया. स्थानीय निवासी बद्री नारायण यादव, रामसुंदर मुखिया, विजेंद्र मुखिया, लक्ष्मण प्रसाद यादव, किशोर कुमार, संतोष कुमार, उमेश कुमार सहित अन्य ने सहित अन्य ने डीआरएम रेल पटरी से पूर्व बस्ती तक पार पथ नहीं होने की समस्या को रखते हुए इसके निदान की मांग की. डीआरएम ने कहा कि उस पर विचार किया जाएगा.

सीआरएस कार्यक्रम को लेकर काफी उत्सुक दिखे लोग

गुरुवार को सरायगढ़ से आसनपुर-कुपहा तक नई रेल लाइन का सीआरएस कार्यक्रम की खबर से जगह-जगह लोग काफी उत्सुक दिखाई दिए. सरायगढ़ रेलवे जंक्शन के पास जहां सैकड़ों की संख्या में लोग कार्यक्रम को देख रहे थे वहीं कोसी रेल महासेतु तथा आसनपुर में भी काफी संख्या में लोग जमा दिखे. इतने लंबे अरसे बाद स्पेशल ट्रेन को कोसी रेल महासेतु से गुजरते आसनपुर गांव तक पहुंचने पर लोग गदगद थे. लोगों ने बताया कि पहले जो बिल्कुल सपना दिखाई दे रहा था अब हकीकत बनता जा रहा है.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.