बिहार सरकार ने नहीं दिया प्रोटेक्शन किट, भागलपुर की Dr. ने यूट्यूब देखकर कार कवर से बना ली किट

को/रोनाकी ल/ड़ाई में बिहार के स्वास्थ्य महकमा साधन और संसाधान के मामले में फेल है. बिहार के कई ऐसे जिलों के अस्पताल हैं जहां को/रोना सं/क्रमण को रोकने के लिए काम कर रहे चिकित्सकों के पास प्रोटेक्शन किट भी नहीं है. ऐसी ही खबर राजधानी पटना के कई अस्पतालों से भी सामने आई थी. लेकिन को/रोनाकी इस ल/ड़ाई में बिहार के डॉक्टर भी हार मानने को तैयार नहीं है. साधन संसाधान के कमी के बीच भागलपुर से एक अच्छी खबर सामने आई है.

भागलपुर की एक डॉक्टर ने स्वास्थ्य महकमे से प्रोटेक्शन किट नहीं मिलने पर कार कवर को ही प्रोटेक्शन किट बना लिया. डॉक्टर का नाम डॉ गीता रानी है. स्त्री एवं प्रसव रोग विभाग में कार्यरत डॉक्टर गीता रानी ने कार कवर से बनें प्रोटेक्शन किट के साथ एक महिला की सर्जरी भी की.

कार कवर को किट बनाने के आइडिया पर डॉ गीता रानी ने बताया कि वह पिछले कई दिनों से अपने वरीय अधिकारीयों से प्रोटेक्शन किट की डिमांड कर रही थी लेकिन यह पूरा नहीं हो रहा था. जिसके बाद उन्होंने यूट्यूब पर वीडियो देखा जिसमें कार कवर को किट बनाने की विधि बताई गई थी. उनके पास कार का कवर था जिसे लेकर वह बरारी के टेलर शौकत के पास पहुंची, जिसे यूट्यूब जा वीडियो दिखाकर उन्होंने अपना प्रोटेक्शन किट तैयार करवाया.

डॉक्टर गीता ने कहा कि यह किट पूरी तरह को/रोनासे बचाव में सेफ है, इसे धोकर आराम से बार बार इस्तेमाल में लाया जा सकता है. उन्होंने इस आईडिया की जानकारी के अलावे लोगों को अपने घरों से छाता लेकर बाहर निकलने का आईडिया भी भारत सरकार और बिहार के सीएम नीतीश कुमार को मेल कर दिया है. डॉक्टर ने बताया कि अगर लोग अपने घरों से छाता लेकर बाहर निकलेंगे तो स्वतः ही तीन फीट की डिस्टेंस मेंटेन हो जाएगी. इससे भी को/रोनाके प्रसार से बचाव किया जा सकता है.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.