कभी सानिया मिर्जा के कारण जेल गए थे Khesari, आज भोजपुरी सिनेमा के सुपरस्‍टार बन मना रहे जन्‍मदिन

Desk: भोजपुरी सिनेमा (Bhojpuri Cine Industry) और संगीत की दुनिया के सुपरस्‍टार खेसारी लाल यादव का आज जन्‍मदिन है। खेसारी का जन्‍म बिहार (Bihar) के सिवान (Siwan) जिले में 6 मार्च 1986 को हुआ था। 35 साल की उम्र में उन्‍होंने अपने छोटे से गांव से बाहर निकलकर वह मुंबई (Mumbai) की मायानगरी से लेकर पूरी दुनिया में फैले भोजपुरी (Bhojpuri Film Industry) और हिंदी भाषि‍यों के बीच अपनी पहचान बना चुके हैं। इस मुकाम तक पहुंचने में खेसारी को इतना लंबा फासला और इतना कठिन संघर्ष करना पड़ा है, जिसकी कल्‍पना भी ढेरों लोग नहीं कर सकते हैं।

दिल्‍ली की सड़क पर बेचते थे लिट्टी

खेसारी ने अपने जीवन में फर्श से अर्श तक का मुकाम हासिल किया है। उन्‍होंने काफी गरीबी देखी है। उनका जन्‍म बेहद गरीब परिवार में हुआ। उम्र हुई और कमाने की जरूरत महसूस हुई तो वे दिल्‍ली चले गए। वहां एक धागा कंपनी में काम किया। शादी हुई और परिवार का खर्च बढ़ा तो एक वक्‍त वे दिल्‍ली के ओखला इलाके में सड़क किनारे अपने पिता के साथ लिट्टी बेचने लगे। एक वक्‍त साइक‍िल तक के लिए मुहताज खेसारी अब करोड़ों की संपत्ति के मालिक हैं।

गाने की वजह से करना पड़ा तिहाड़ जेल का सफर

खेसारी को अपने एक गाने के लिए जेल तक जाना पड़ गया था। मशहूर टेनिस स्‍टार सानिया मिर्जा की एक शिकायत के कारण वे तीन दिन दिल्‍ली की तिहाड़ जेल में रहे। सानिया ने उनके खिलाफ मानहानि का मामला दर्ज कराया था। यह मुकदमा खेसारी के एक गाने ‘टेनिस वाली सानिया खोजली दुल्‍हा पाकिस्‍तानी’ को लेकर दर्ज कराया गया था।

गाने का शौक ले गया कामयाबी की मंजिल तक

खेसारी को डांस और गाने का शौक पहले से था। यही शौक उनकी कामयाबी की वजह बना। उनके गाने बिहार के भोजपुरी इलाके में काफी लोकप्रिय होने लगे। उनकी प्रसिद्धि बढ़ी तो उन्‍होंने भोजपुरी के दूसरे नामचीन गायकों की तरह ही भोजपुरी सिनेमा का रुख किया। यहां भी उन्‍हें भरपूर कामयाबी मिली।

2012 से शुरू हुआ सिनेमा का सफर

खेसारी ने भोजपुरी सिनेमा इंडस्‍ट्री में वर्ष 2012 में ‘साजन चले ससुराल’ फिल्‍म के जरिये इंट्री की थी। यह फिल्‍म काफी लोकप्रिय हुई और खेसारी इंडस्‍ट्री में छाते चले गए। अगले साल इनकी पांच फिल्‍में आईं। लगभग सारी फिल्‍में दर्शकों के बीच खूब पसंद की गईं। अब तक इनकी पांच दर्जन फिल्‍में आ चुकी हैं। इस साल भी खेसारी की चार-पांच फिल्‍में आने की उम्‍मीद जताई जा रही है। खेसारी को भोजपुरी का गोविंदा भी कहा जाता है। इसके पीछे एक वजह यह भी है कि उन्‍होंने भोजपुरी में ‘हीरो नंबर वन ‘ और ‘कुली नंबर वन’ जैसी फिल्‍में कीं। ये फिल्‍में भी काफी सराही गईं।

बेहतरीन अभिनय के लिए मिल चुके हैं कई अवार्ड

2019 में वे मशहूर टीवी रियलिटी शो ‘बिग बॉस’ में शामिल हुए। वर्ष 2018 में सुपरहिट फिल्‍म ‘संघर्ष’ में बेहतरीन अभिनय के लिए उन्‍हें कई अवार्ड मिले।

2006 में हुई शादी, दो बच्‍चों के पिता हैं खेसारी

खेसारी की शादी 2006 में चंदा देवी से हुई। अब खेसारी के दो बच्‍चे भी हैं। उनका नाम कीर्ति यादव और ऋषव यादव है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.