बिहार के एक बाहुबली नेता की प्रेम कहानी, पत्नी को चुनाव लड़ाया और शहाबुद्दीन की बीवी को हरा दिया

ब से बिहार होता है… इस बिहार में एक समय बाहुबली नेताओं का बोलबाला हुआ करता था. अनंत सिंह, शहाबुद्दीन, पप्पू यादव, आनंद मोहन सहित कई ऐसे नेता हैं जो दबंगई के कारण राजनीति में आए और अपना परचम लहराया. इनमें से तो कुछ लोग ऐसे भी हैं जो जेल में रहने के दौरान भी चुनाव जीत जाते हैं. कहने का तात्पर्य यह है कि बाहुबली के कारण लोग उन्हें पसंद करते हैं. उनसे प्यार करते है. आज हम आपको एक ऐसे ही बाहुबली नेता की प्रेम कहानी सुनाने जा रहे हैं. दिल के बारे में कहा जाता है कि बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने जब इन को टिकट देने से इनकार कर दिया तो उन्होंने आनन-फानन में अखबार में विज्ञापन देकर शादी के लिए विज्ञापन दिया. हजारों लड़कियों से इंटरव्यू ली गई. सबको पता था कि जो इस बाहुबली नेता से विवाह करेगा उसे चुनाव लड़ना होगा. आपको जानकर आश्चर्य होगा कि यह शादी पितृपक्ष के दौरान किया गया था. तो आइए जानते हैं क्या है व रोचक कहानी…

बाहुबली नेता अजय सिंह के संबंध नीतीश कुमार से अच्छे हैं। उनकी मां जगमातो देवी सिवान के दरौंधा सीट से चुनाव लड़ती थी। लेकिन, उनके निधन के बाद 2011 में उनकी सीट खाली हो गई। इसी साल उपचुनाव होना था। बताते हैं कि बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने अजय सिंह के सामने उस समय शर्त रखी थी कि किसी से शादी कर लो, हम उसे टिकट देंगे।

सीएम नीतीश कुमार की शर्त पर अजय सिंह से दुविधा में पड़ गए। वो शादी के बारे में सोचते भी तो कैसे, क्योंकि उस समय पितृपक्ष चल रहा था और ऐसे में कोई शुभ कार्य नहीं होता है। लेकिन, किसी तरह कविता सिंह ने पितृपक्ष में उनसे शादी करने का फैसला किया। टिकट के लिए बिना मुहूर्त के ही दोनों ने शादी कर ली।

शादी के बाद जेडीयू ने कविता सिंह को दरौंधा उपचुनाव का टिकट थमा दिया था। कविता सिंह चुनाव लड़ी और जीत भी गईं। वो उस समय खूब चर्चा रही। पितृपक्ष में शादी को लेकर कविता सिंह बेबाकी से जवाब देती थीं

नीतीश कुमार के करीबी अजय सिंह की पत्नी होने के कारण कविता को हमेशा नीतीश कुमार का आशीर्वाद मिलता रहा। साल 2015 के विधानसभा चुनाव में जेडीयू और आरजेडी के बीच गठबंधन था। तब, भी कविता देवी को टिकट दिया गया और वो चुनाव जीत गईं।

लगातार दो बार चुनाव जीतने के बाद कविता 2019 के लोकसभा चुनाव में लड़ने को तैयार हो गई। ऐसे में अजय सिंह ने अपनी पत्नी के लिए लोकसभा चुनाव का टिकट मांगा और जेडीयू ने उन्हें शहाबुद्दीन के गढ़ माने जाने वाले सिवान से टिकट दे दिया। इस बार शहाबुद्दीन की पत्नी हिना शहाब उम्मीदवार थीं। लेकिन, कविता सिंह 1 लाख से ज्यादा वोटों से चुनाव में जीत लिया।

सिवान की राजनीति में अब कविता सिंह और उनके बाहुबली पति अजय सिंह का अच्छा-खासा दखल है। उनके पति अजय सिंह हर राजनैतिक कार्यक्रमों में उनके साथ साए की तरह रहते हैं।

डेली बिहार न्यूज फेसबुक ग्रुप को ज्वाइन करने के लिए लिंक पर क्लिक करें….DAILY BIHAR  आप हमे फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और WhattsupYOUTUBE पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *