बिहार के बेगूसराय में गवाही से पहले गैंगरे’प पीड़िता की ह’त्या, हाथ—पैर बांधकर फं’दे से लटका दिया

बेगूसराय- गवाही से पहले गैंगरेप पीड़िता की हत्या; फंदे से लटका था शव, पैर जमीन पर और हाथ भी बंधे थे, गांव के ही तीन युवक हैं आरोपी, एक आरोपी जेल में, दो फरार हैं, माता-पिता बाहर गए थे लौटे तो फंदे से लटकता मिला शव, 17 मार्च 2020 को रेप

वीरपुर थाना क्षेत्र के एक गांव में गुरुवार की शाम गैंगरेप पीड़िता नाबालिग का शव उसके ही कमरे में फंदे से लटकता मिला। परिजन इसे हत्या बता रहे हैं। पीड़िता के पिता के अनुसार, दो साल पहले गांव के ही तीन युवकों ने दुष्कर्म किया था जिसका एक आरोपी जेल में है जबकि दो फरार है। 8 जुलाई को इसी मामले में मेरी बेटी गवाही देने वाली थी। इसी को लेकर आरोपियों ने उसकी हत्या कर दी है। पिता ने कहा कि बेटी के पैर जमीन से सटे थे और उसके हाथ पीछे की ओर बंधे हुए थे। ऐसे में वह स्वयं आत्महत्या कैसे कर सकती है। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। थानाध्यक्ष ने कहा कि आत्महत्या एवं हत्या दोनों बिंदुओं पर जांच शुरू कर दी गई है।

DEMO PHOTO

मृतका के पिता ने बताया कि गुरुवार की शाम वे और उनकी पत्नी घर में नहीं थे। हम दोनों खेत गए थे। मृतका के भाई-बहन पढ़ने के लिए कोचिंग गए हुए थे। कोचिंग से लौटकर जब उसकी बहन घर गई तो देखा कि घर का दरवाजा खुला था। अंदर में बहन का शव फंदे से लटका मिला।

मृतका के पिता ने बताया कि 17 मार्च 2020 को गांव के तीन युवकों ने पीड़िता के साथ दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया था। इस मामले में एक आरोपी विवेक कुमार अभी भी जेल में बंद है। जबकि दो आरोपी रामकुमार एवं नीरज कुमार फरार है। सूत्र बताते हैं कि यह हत्या का ही मामला है। दुष्कर्म के दो साल बाद कोई आत्महत्या क्यों करेगा।

डेली बिहार न्यूज फेसबुक ग्रुप को ज्वाइन करने के लिए लिंक पर क्लिक करें….DAILY BIHAR  आप हमे फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और WhattsupYOUTUBE पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.