नीतीश कैबिनेट का हुआ विस्‍तार, किसी ने मैथिली तो किसी ने उर्दू में ली शपथ

Desk: बिहार में राष्‍ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (ND) की नीतीश सरकार (Nitish Government) के पहले कैबिनेट विस्‍तार (Cabinet Expansion) में अब कुछ ही देर शेष बचे हैं। दोपहर 12:30 बजे राजभवन में राज्‍यपाल फागू चौहान ने नए मंत्रियों को पद व गोपनीयता की शपथ दिलाई। इस बीच एनडीए के दोनों घटक दलों भारतीय जनता पार्टी एवं जनता दल यूनाइटेड ने अपने 17 नए मंत्रियों की लिस्‍ट राज्‍यपाल को सौंप दी थी। इसके बाद मंत्रियों की कुल संख्या 31 हो गई है। सबसे पहले बीजेपी के शाहनवाज हुसैन ने शपथ ग्रहण किया।

विदित हो कि बिहार में एनडीए सरकार के गठन के बाद करीब पौने तीन महीने से कैबिनेट विस्‍तार लटका हुआ था। अंतत: बीजेपी व जेडीयू में इसपर सहमति बनने के बाद मंगलवार को बीजेपी के नौ तथा जेडीयू के आठ नए मंत्रियों ने शपथ ली।

LIVE Bihar Cabinet Expansion Updates:

01:21 बजे: बीएसपी से जेडीयू में आए जमा खान ने मंत्री पद की शपथ ली। वे कैमूर के चैनपुर से विधायक हैं। जमा खान जेडीयू के एकमात्र मुस्लिम विधायक हैं।

01:19 बजे: सहरसा के बीजेपी विधायक आलोक रंजन झा ने मंत्री पद की शपथ ली। वे पहली बार मंत्री बने हैं। कोसी इलाके से उनके साथ सुपौल के छातापुर विधायक नीरज बबलू भी मंत्री बनाए गए हैं।

01:15 बजे: बांका के अमरपुर से विधायक जयंत राज ने मंत्री पद की शपथ ली। महज 33 साल के जयंत मंत्रिमंडल के सबसे युवा चेहरा हैं। उन्‍होंने कांग्रेस के जीतेंद्र सिंह को पराजित किया था।

12:40 बजे: सबसे पहले बीजेपी के शाहनवाज हुसैन ने शपथ ली। उन्‍होंने उर्दू में शपथ ली। दूसरे नंबर पर जेडीयू के श्रवण कुमार ने शपथ ग्रहण किया।

12:30 बजे: दोपहर 12:30 बजे शुरू होगा मंत्रिमंडल का शपथ ग्रहण। इसके लिए सभी गणमान्‍य व मंत्री पद की शपथ लेने वाले विधायक राजभवन पहुंच चुके हैं।

11:50 बजे: शपथ ग्रहण के पहले सहरसा से विधायक आलाेक रंजन ने कहा: बिहार के साथ कोसी का भी विकास करेंगे। मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार के हाथ को मजबूत करेंगे।

11: 45 बजे: मंत्रिमंडल विस्‍तार से पहले बोले शाहनवाज: अपनी जन्‍मभूमि की खिदमत का मौका मिला है। जो भी मंत्री पद मिलगा, उसपर इमानदारी से काम करूंगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृहमंत्री अमित शाह एवं बीजेपी अध्‍यक्ष जेपी नड्डा के हाथों को मजबूत करूंगा।

11:30 बजे: मंत्रिमंडल में शामिल किए जाने वाले सभी बीजेपी विधायक पार्टी कार्यालय पहुंचे हैं। वहां बीजेपी के तमाम बड़े नेता मौजूद हैं। यहां से वे राजभवन जाएंगे।

11:10 बजे: बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत के भाई व बीजेपी विधायक नीरज सिंह बबलू को भी मंत्रिमंडल में जगह दी जा रही है। नीरज बबलू सुपौल के छातापुर से विधायक हैं। कोसी क्षेत्र के सहरसा से बीजेपी के आलोक रंजन झा तथा पूर्णिया क्षेत्र के धमदाहा से जेडीयू की लेसी सिंह भी मंत्री पद की शपथ लेने वालों की लिस्‍ट में शामिल हैं।

10.50 बजे: नीतीश सरकार के मंत्रिमंडल विस्‍तार में शाहाबाद क्षेत्र से एक मात्र विधायक जमा खां को मौका मिला है। वे बीएसपी के टिकट पर कैमूर जिले की चैनपुर सीट से विधायक हैं। कुछ दिनों पहले ही जेडीयू में शामिल हुए हैं। इससे पहले सरकार के पहले शपथ ग्रहण समारोह में मुख्‍यमंत्री के साथ ही शाहाबाद क्षेत्र के भोजपुर जिले से बीजेपी विधायक अमरेंद्र प्रताप सिंह ने मंत्री पद की शपथ ली थी।

10:30 बजे: आरजेडी के प्रवक्‍ता मृत्‍युंजय तिवारी ने कहा कि मंत्रिमंडल विस्‍तार दिखावा है। बीजेपी नीतीश कुमार को नीचा दिखाने में कामयाब रही। कुछ भी हो जाए, बिहार में सरकार का गिरना व मध्‍याविधि चुनाव तय है।

10:10 बजे: मंत्रिमंडल में शपथ ग्रहण करने को लेकर पटना पहुंचे शाहनवाज हुसैन का बीजेपी कार्यकर्ताओं ने स्‍वागत किया। उन्‍होंने कहा कि बिहार का विकास उनकी प्राथमिकता है। वे नीतीश कुमार के साथ इमानदारी से काम करेंगे।

09:50 बजे: मंत्रिमंडल विस्‍तार को लेकर बीजेपी विधायक ज्ञानेंद्र सिंह ज्ञानू ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एवं गृहमंत्री अमित शाह को भ्रम में डाल कर बिहार के मध्‍यम दर्ज के नेताओं ने मंत्रिमंडल विस्‍तार में अपनी चलाई है। इसके परिणामस्‍वरूप बीजेपी अगड़ी जातियों के वोट खो देगी।

09:30 बजे: मंत्रिमंडल विस्‍तार के ठीक पहले बीजेपी से विरोध का सुर फूटा है। बीजेपी विधायक ज्ञानेंद्र सिंह ज्ञानू ने कहा है कि मंत्रियों की सूची में जीतीय व क्षेत्रीय समीकारणों का ध्‍यान नहीं रखा गया है। अनुभवहीन व आपराधिक पृष्‍ठभूमि के लोगों को मंत्री बनाया जा रहा है। बीजेपी को बनिया व यादव की पार्टी बना दिया गया है। मंत्रिमंडल विस्‍तार में उच्‍च जातियों को अपमानित किया गया है।

09:00 बजे: कौन से मंत्री को कौन सा विभाग दिया जा रहा है, यह अभी सार्वजनिक नहीं किया गया है। हालांकि, पार्टियों के विभागीय कोटा को तय कर दिया गया है। माना जा रहा है कि बीजेपी के यााहनवाज हुसैन को मंत्रिमंडल में कोइ बड़ा विभाग दिया जाएगा।

08:30 बजे: आज 12:30 बजे राजभवन में राज्‍यपाल फागू चौहान नए मंत्रियों को पद व गोपनीयता की शपथ दिलाएंगे। इसके लिए राजभवन के पास नए मंत्रियों के समर्थक अभी से जुटने लगे हैं। वहां सुरक्षा कड़ी कर दी गई है।

08:00 बजे: एनडीए सरकार के गठन के पौने तीन महीने बाद आज 12:30 बजे 17 नए मंत्रियों का शपथ ग्रहण होने जा रहा है। इनमें बीजेपी के नौ तथा जेडीयू के आठ मंत्री शामिल हैं। लिस्‍ट में बीजेपी के एमएलसी शाहनवाज हुसैन प्रमुख चेहरे हैं।

बीजेपी से बनाए जा रहे मंत्री

शाहनवाज हुसैन (एमएलसी)

नितिन नवीन (बांकीपुर से एमएलए)

नारायण प्रसाद (नौतन से एमएलए)

सुभाष सिंह (गोपालगंज से एमएलए)

नीरज सिंह बबलू (छातापुर से एमएलए)

प्रमोद कुमार (मोतिहारी से एमएलए)

सम्राट चौधरी (एमएलसी)

आलोक रंजन झा (सहरसा से एमएलए)

जनक राम (दोनों सदनों के सदस्य नहीं हैं)

जेडीयू से बनाए जा रहे मंत्री

लेसी सिंह (धमदाहा से एमएलए)

सुमित सिंह (चकाई से निर्दलीय एमएलए)

संजय झा (एमएलसी)

श्रवण कुमार (नालंदा से एमएलए)

मदन सहनी (बहादुरपुर से एमएलए)

जयंत राज (अमरपुर से एमएलए)

जमां खान (चैनपुर से एमएलए)

सुनील कुमार (भोरे से एमएलए)

बीजेपी व जेडीयू के बीच विभाग तय

मंत्रिमंडल विस्‍तार के बाद किसे कौन सा विभाग दिया जाएगा, यह सवाल अभी शेष है। हालांकि, बीजेपी व जेडीयू के पास कौन-कौन से विभाग रहेगे, यह तय किया जा चुका है।

जेडीयू के पास रहेंगे ये विभाग

  1. गृह
  2. सामान्य प्रशासन
  3. निगरानी
  4. निर्वाचन
  5. ग्रामीण कार्य
  6. संसदीय कार्य
  7. ग्रामीण विकास
  8. जल संसाधन
  9. सूचना व जनसंपर्क
  10. ऊर्जा
  11. मद्य निषेध, उत्पाद एवं निबंधन
  12. योजना एवं विकास
  13. खाद्य एवं उपभोक्ता संरक्षण
  14. शिक्षा
  15. भवन निर्माण
  16. समाज कल्याण
  17. विज्ञान व प्रौद्योगिकी
  18. अल्पसंख्यक कल्याण
  19. परिवहन

बीजेपी के पास रहेंगे ये विभाग

  1. वित्त
  2. वाणिज्य कर
  3. पर्यावरण एवं जलवायु परिवर्तन
  4. सूचना प्रौद्योगिकी
  5. आपदा प्रबंधन
  6. नगर विकास व आवास
  7. पंचायती राज
  8. स्वास्थ्य
  9. पथ निर्माण
  10. कला संस्कृति एवं आवास
  11. कृषि

12, सहकारिता

13, गन्ना उद्योग

14 उद्योग

  1. पिछड़ा एवं अति पिछड़ा वर्ग कल्याण
  2. राजस्व एवं भूमि सुधार
  3. विधि
  4. पर्यटन
  5. श्रम संसाधन
  6. खान व भूतत्व
  7. पर्यटन

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *