बिहार की जनता को तोहफा, बिहार के 38 जिलों में 28 से गुजरेंगे 4 एक्सप्रेसवे, देखें नाम और रूट प्लान

बिहार के 38 जिलों में 28 से गुजरेंगे 4 एक्सप्रेसवे, देखें नाम और रूट प्लान : अगले महीने दिसंबर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश के सबसे लंबे एक्सप्रेसवे गंगा एक्सप्रेसवे का शिलान्यास करेंगे. मेरठ से प्रयागराज तक बनाए जाने वाले गंगा एक्सप्रेसवे को बलिया तक बनाया जाना है. बलिया से बिहार राज्य की सीमा शुरू हो जाती है. जाहिर है इससे बिहार को भी काफी फायदा मिलेगा.

पीएम मोदी अक्सर कहते रहे हैं कि देश के विकास के लिए देश के पूर्वी क्षेत्र का विकास जरूरी है. इसके लिए सबसे पहले इन्फ्रास्ट्रक्चर तैयार करना पहली प्राथमिकता में शामिल है. बता दें कि इसी उद्येश्य से बिहार में चार एक्प्रेसवे बन रहा है.

पहला एक्सप्रेसवे औरंगाबाद से जयनगर के बीच एक्सप्रेस-वे के निर्माण की प्रक्रिया चल रही है. दूसरा एक्सप्रेस-वे रक्सौल से पटना होते हुए कोलकाता तक का होगा. तीसरा एक्सप्रेस वे बक्सर से भागलपुर के बीच प्रस्तावित है. गोरखपुर से सिलीगुड़ी के बीच प्रस्तावित यह बिहार का चौथा एक्सप्रेस-वे होगा.

इन चारों एक्सप्रेस वे से बिहार के 38 जिलों में से लगभग 28 जिले जुड़ेंगे. ऐसे में उम्मीद की जा रही है कि बिहार के विकास की रफ्तार भी तेज होगी. आइये हम नजर डालते हैं बिहार के इन चारों एक्सप्रेसवे के बारे में कि ये किन-किन जिलों से गुजरेगा.

औरंगाबाद जयनगर एक्सप्रेसवे- औरंगाबाद के मदनपुर से शुरू होने वाली ये फोरलेन सड़क गया एयरपोर्ट के बगल से होते हुए जीटी रोड को भी संपर्कता प्रदान करेगी. गया से ये जहानाबाद और नालंदा के बॉर्डर से गुजरते हुए पटना में कच्ची दरगाह में आएगी. यहां से बिदुपुर के बीच बन रहे 6 लेन पुल से चकसिकंदर, महुआ के पूरब होते हुए ताजपुर जाएगी. वहां से दरभंगा एयरपोर्ट के समीप से गुजरते हुए जयनगर में समाप्त होगी. औरंगाबाद से जयनगर तक की यह सड़क 271 किलोमीटर लंबी होगी. ये सड़क पटना सहित प्रदेश के 6 जिलों से होकर गुजरेगी.

डेली बिहार न्यूज फेसबुक ग्रुप को ज्वाइन करने के लिए लिंक पर क्लिक करें….DAILY BIHAR  आप हमे फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और WHATTSUP, YOUTUBE पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं 

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *