बिहार में फ्री में बांटा जा रहा है मुर्गा, लूटने वालों की लगी होड़, को/रोना के कारण नहीं आ रहे ग्राहक

को/रोना का असर : बिहार में फ्री में बांटा जा रहा है मुर्गा, लूटने वालों की लगी होड़

को/रोना वायरस के बढ़ते प्रकोप के बीच पटना सहित आसपास के इलाके में चिकेन की बिक्री में 70 फीसदी से ज्यादा गिरावट आयी है. को/रोना के कारण पिछले एक माह में चिकेन के दाम 60 फीसदी से अधिक गिर गये हैं. इसके कारण चिकेन कारोबार से जुड़े कारोबारियों पर संकट छाया हुआ है. इसकी एक बानगी अरवल जिले में देखने को मिली. जहां को/रोना के कारण घटी कीमतों से परेशान मुर्गा कारोबारी ने फ्री में मुर्गा बांट दिया. जिसकी तस्वीर भी सामने आई हैं.

अरवल में मुफ्त में मुर्गे लुटाने की खबर सुनते ही लोग मुर्गे कारोबारी के घर पहुंच गये. देखते ही देखते मुर्गा कारोबारी घर के बाहर भारी भीड़ लग गई. कारोबारी द्वारा घर के छत से एक-एक कर मुर्गे को गेंद की तरह फेंका जा रहा था और लोग उसे झपटने में लगे हुए थे. इस भीड़ में बच्चे नौजवान से लेकर बुड्ढे लोग भी मुर्गा लूटने पहुंचे थे. यही हाल बिहार के तमाम जिलों के चिकेन दुकानदारों का है जिनकी बोहनी भी आफत हो रही है.

दुकानदार बताते हैं कि मोबाइल पर लोग एक दूसरे को चिकेन मांस नहीं खाने के लिए कह रहे हैं जबकि सरकार ने ऐसा कोई निर्देश नहीं दिया है कि को/रोना वायरस चिकेन मांस खाने से होता है, या इसे नहीं खाएं. बता दें कि सोशल मीडिया पर इन दिनों ये अफवाह तेजी से फैल रही है कि चिकेन से को/रोना वायरस फैल सकता है. इसी वजह से बाजार में चिकेन के दाम और बिक्री दोनों में गिरावट आयी है.

एक अनुमान के अनुसार पटना शहर के आसपास दो हजार से अधिक चिकेन की दुकानें हैं. दुकानदारों की मानें सामान्य दिनों में लगभग एक दुकानदार 50-40 किलो से अधिक चिकेन एक दिन में बेच लेता हैं जबकि वीकेंड में यह आंकड़ा दोगुना हो जाता है. आज की तारीख में चिकेन 60 से 70 रुपये प्रति किलो बिक रहा है, लेकिन खरीदार फिर भी नदारद हैं.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *