बिहार में यहां सिर्फ 300 रुपये दीजिए और हो गई शादी, अब घर बसाईए

Patna: दहेज तथा बाल विवाह के खिलाफ जन जागरूकता का असर हौले-हौले ही सही, लेकिन धरातल पर दिख रहा है. शादी में होने वाले अनावश्यक खर्चे से कई लोग तौबा कर रहे हैं. इसकी बानगी बक्सर के जिला निबंधन कार्यालय में दिखाई देती है, जहां कागजी प्रक्रिया से शादी करने वाले जोड़े की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है. बिना बैंड और बाराती के यहां महज तीन सौ रुपये में शादी की प्रक्रिया पूरी हो जाती है.

हिन्दू विवाह अधिनियम 1954 के तहत निबंधित विवाह का प्रावधान है. जो जिला निबंधन पदाधिकारी के समक्ष किया जाता है. इसके लिए निबंधन कार्यालय में उम्र, पते का प्रमाण तथा लड़का-लड़की को संयुक्त फोटो के साथ विवाह के लिए आवेदन करना होता है. इस दौरान तीन गवाहों की भी आवश्यकता होती है. पहली बार में 100 रुपये का शुल्क देना होता है. आवेदन जमा करने के बाद कार्यालय द्वारा उसे नोटिस बोर्ड में लगाकर 30 दिनों तक आपत्ति ली जाती है. 30 दिन बाद तथा 90 दिनों के अंदर कोई आपत्ति प्राप्त नहीं होने पर निबंधन पदाधिकारी के समक्ष के उनकी शादी करा दी जाती है. उस समय उन्हें पुन: 200 रुपये का शुल्क देना पड़ता है.

विवाह की सही उम्र लड़की के लिए 18 और लड़के के लिए 21 वर्ष निर्धारित है. वहीं, जिनकी शादियां परिवार के सदस्यों के साथ सामाजिक रूप से या किसी मंदिर में की जाती है, उनके लिए भी निबंधन कराने का प्रावधान बनाया गया है. वह अपनी शादी का निबंधन करा कर कानूनी रूप से अपनी शादी को वैध बना सकते हैं. विदेश यात्राओं के लिए पासपोर्ट बनाने अथवा नौकरियों में विवाह का प्रमाण पत्र प्रस्तुत करने के लिए निबंधित विवाह की आवश्यकता होती है. उल्लेखनीय है कि नोटरी पब्लिक के समक्ष एफिडेविट करा कर शादी की मान्यता नहीं दी जा सकती. ऐसे में कोर्ट मैरिज करनेवालों को निबंधन कार्यालय से ही अपनी शादी का निबंधन कराना होता है.

विभागीय सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार हाल के वर्षों में निबंधित शादियों के आवेदनों की संख्या में इजाफा हुआ है. हर वर्ष निबंधित विवाह के लिए तकरीबन डेढ़ सौ आवेदन प्राप्त होते थे. इस साल यह आंकड़ा नवंबर तक ढाई सौ को पार कर गया है. हालांकि, अभी भी अधिकतर वे लोग ही विवाह के निबंधन के लिए आते हैं, जिन्हें सरकारी कार्यालयों में विवाह का प्रमाण पत्र जमा करना होता है.

अवर निबंधन पदाधिकारी डॉ. यशपाल ने इस पर कहा कि निबंधित विवाह के लिए निबंधन कार्यालय में मामूली प्रक्रियाओं को पूरी करने के बाद विवाह का निबंधन करते हुए इसे कानूनी मान्यता प्रदान कर दी जाती है.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *