पटना के आ’तंकवादियों की 1 गलती से भंडाफोड़, बिहार पुलिस के मु’स्लिम दारोगा को भेजा भड़काउ पोस्टर

PATNA-थानेदार को मुस्लिम जान जेहाद का मैसेज भेजा, उसी ने PFI की ताबूत में ठोकी कील, आतंक की फुलवारी }आतंकी 1 माह से भेज रहे थे धर्म के नाम पर भड़काऊ संदेश :फुलवारीशरीफ में धर्म के नाम पर मुसलमानों काे भड़काने की पीएफआई की साजिश एक माह से चल रही थी। लाेगाें काे साेशल मीडिया के माध्यम से भड़काऊ मैसेज भेजा जा रहा था ताकि धार्मिक उन्माद फैले। इसी तरह का एक पंफलेट फुलवारीशरीफ के थानेदार एकरार अहमद के माेबाइल पर भी आया था। उसमें लिखा था-शर्म कराे, डूब मराे। …फुलवारीशरीफ के अवाम असली मुसलमान कब बनाेगे? नबी की शान पर कब बाेलाेगे? सारी दुनिया के मुसलमान आवाज उठा रहे हैं।

तुम कब आवाज उठाओगे? क्या यूं ही मुर्दा बने रहाेगे? जुमा की नमाज में 10 जून 2022 काे जामा मस्जिद नया टाेला, फुलवारीशरीफ पहुंचाे और इश्के रसूल का सबूत दो। पीएफआई के आतंकी थानेदार को ये मैसेज एक मुस्लिम जानकर भेजा था। लेकिन, उन्होंने ने ही पीएफआई की ताबूत में कील ठोक दी। मैसेज आने के अगले दिन 11 जून काे ही थानेदार ने थाने में देशद्राेह समेत अन्य कठोर धाराओं के तहत केस दर्ज कर लिया। साथ ही मामले की छानबीन भी शुरू कर दी।12 जुलाई काे जब प्रधान और एसडीपीआई के नयाटाेला नहर पर स्थित अहमद पैलेस में युवकाें काे देश के खिलाफ ट्रेनिंग दिए जाने की सूचना मिली। फिर, अतहर परवेज और झारखंड से रिटायर्ड दाराेगा जलालुद्दीन काे गिरफ्तार कर लिया और पूरी साजिश का पर्दाफाश हुआ।

डेली बिहार न्यूज फेसबुक ग्रुप को ज्वाइन करने के लिए लिंक पर क्लिक करें….DAILY BIHAR  आप हमे फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और WhattsupYOUTUBE पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.