बिहार में स्मार्ट सिटी योजना फेल, पटना को 62वां, मुजफ्फरपुर को 74वां, भागलपुर को 78वां रैंक मिला

PATNA100 स्मार्ट सिटी में पटना 62वें नंबर पर, प्रोजेक्ट पूरा न होने से पिछड़ा मुजफ्फरपुर को 74वीं, भागलपुर को 78वीं, बिहारशरीफ को 81वीं रैंक; राजधानी में स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के कामों को लेकर एक बार फिर से निराशा हाथ लगी है। 100 शहरों की रैंकिंग में पटना की 62वीं रैंक है। स्मार्ट सिटी मिशन ने निर्माण व इंफ्रास्ट्रक्चर के मापदंड पर शहरों की रैंकिंग की है। इसमें किस शहर ने समय रहते प्रोजेक्ट पूरा किया या नहीं, ग्रांट व बिना ग्रांट के कार्य, फंड ट्रांसफर का उपयोग, प्रोजेक्ट ऑडर समेत सात पैरामीटर पर यह आकलन किया गया।

हर पैरामीटर का अंक अलग है, इसी पर सभी शहरों के साथ पटना की भी रैंकिंग हुई। इस रैंकिंग को रियल टाइम का नाम दिया गया है। पहले इस तरह की रैंकिंग साल में एक बार दी जाती थी, लेकिन अब इसे छह महीने के अंतराल पर जारी किया जा रहा है। सालभर पहले पटना की रैंकिंग 61 थी, अब फिसलकर 62 हो गई है।

शहर के कोर एरिया अर्थात महत्वपूर्ण जगहों में एबीडी अर्थात एरिया बेस्ड डेवल्पमेंट के लिए सात प्रोजेक्ट को तय किया गया है, जिसमें अधिकतर को पूरा नहीं किया जा सका है। इसमें गांधी मैदान में मेगा स्क्रीन को शुरू तो किया गया, लेकिन 8 दिन बाद ही यह बंद हो गई। मंदिरी नाला के पुनर्निमाण के साथ ही इसपर सड़क नहीं बन सकी है। पिछले महीने ही इस प्रोजेक्ट का भूमिपूजन हुआ है।

अदालतगंज तालाब को डेवलप किया गया है, लेकिन अभी तक इसका पूर्ण तौर पर संचालन शुरू ही नहीं हुआ है। सभी शासकीय भवनों की छत पर सोलर पैनल लगाने का काम पूरा किया गया है। इसी तरह एबीडी प्रोजेक्ट के तहत शासकीय स्कूलों को विकसित करना था, जिसको लेकर अभी काम चल ही रहा है।

डेली बिहार न्यूज फेसबुक ग्रुप को ज्वाइन करने के लिए लिंक पर क्लिक करें….DAILY BIHAR  आप हमे फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और Whattsup, YOUTUBE पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं 

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *