BPSC पास कर नौकरी मिलते ही पत्नी ने पति को छोड़ा, कहा— तुमसे ज्यादा कमाती हूं, प्रेमी से पिटवाया

PATNA/SAHARSA- मैं 35 हजार कमाती हूं, तुम 20..छोड़ो नहीं तो मरोगे:सहरसा में BPSC से टीचर बनते ही पति को छोड़ा, प्रेमी से पिटवाया; पति होमगार्ड जवान : अग्नि को साक्षी मानकर हमारा विवाह हुआ था। उसने मुझे पति के रूप में और मैंने उसको पत्नी को रूप में रूप में स्वीकार किया था। सब कुछ ठीक ठाक चल रहा था। मुझे बिहार में होमगार्ड जवान के रूप में नौकरी मिल गई थी। पत्नी भी पढ़ने में तेज थी इसलिए उसको भी मास्टरनी बनवाने का फैसला किया। बिहार में नई शिक्षा नियमावली बनने के बाद बीपीएससी द्वारा आयोजित परीक्षा में वह पास होकर शिक्षिका बनी और उसी दिन से घर में महाभारत शुरू हो गया। पति और पत्नी के बीच प्यार के बदले हर बात पर हो हल्ला होने लगा। अब मामला थाने पहुंच गई है। आइए जानते हैं क्या है पूरा मामला…

बिहार के सहरसा में बीपीएससी परीक्षा पास कर टीचर बनने के बाद पत्नी ने पति को छोड़ दिया। पति का आरोप है कि पत्नी कहती है कि वो 35 हजार रुपए महीना कमाती है। जबकि मैं एक होमगार्ड हूं और मेरी सैलरी 20 हजार ही है। लिहाजा, वो अब मेरे साथ नहीं रहना चाहती है। अलग नहीं होने पर मुझे जान से मारने की धमकी भी दी जाती है।

पति ने बताया कि 6 मार्च को पत्नी की तस्वीर फेसबुक पर पोस्ट की। उसके बाद पत्नी ने उसे दरभंगा से सहरसा बुलाया। फिर पत्नी के प्रेमी, पिता और भाइयों ने मिलकर पिटाई की। फिलहाल महिला सहरसा में नहीं हैं। पति ने थाने में लिखित आवेदन दिया है। सिलसिलेवार ढंग से समझिए शादी, सैलरी और फिर बेवफाई की कहानी…

पति होमगार्ड जवान है, उसका नाम अनिल कुमार है। वो दरभंगा में उत्पाद कार्यालय में पदस्थापित है। वो सहरसा के सदर थाना क्षेत्र के बेंगहा वार्ड नंबर 10 का रहने वाला है। वहीं उसकी पत्नी का नाम अन्नू प्रिया है, जो सदर थाना क्षेत्र के ही गौतम नगर वार्ड नं 17 की रहने वाली है। इन दोनों की शादी हिन्दू रीति से मई 2023 में हुई थी।

पति का कहना है कि शादी के 6 महीने तक सब कुछ ठीक रहा। 2 नवंबर को जॉइनिंग लेटर मिला। 3 नवंबर को वो बेगूसराय ट्रेनिंग के लिए चली गई। ट्रेनिंग के दौरान ही वो कहने लगी कि तुम्हारी सैलरी 20 हजार है और मेरी 35 हजार है।

मेरा साथ छोड़ दो वरना मरवा दूंगी। 17 नवंबर को ट्रेनिंग कर बेगूसराय से फिर सहरसा आई। उसके बाद फिर सहरसा जिले के सलखुआ प्रखंड अंतर्गत कबीर धाप पंचायत स्थित हनुमान टोला में जॉइनिंग की। जॉइन करने के बाद से रिलेशनशिप खत्म हो गई और विवाद चलता रहा।

मैंने पढ़ाया-लिखाया, जॉइनिंग होते ही बढ़ी दूरियां

अनिल कुमार का कहना है कि उसकी पत्नी पढ़ी लिखी थी, लेकिन घर के काम में ही रहती थी। पत्नी के बेहतर भविष्य के लिए उसे बीपीएसी की तैयारी के लिए कोचिंग कराई। सारा खर्चा भी उठाया। पत्नी ने बीपीएससी परीक्षा पास भी कर ली और उसकी जॉइनिंग बेगूसराय में हो गई।

यहीं से दोनों के बीच दूरियों की शुरुआत हुई। पति का कहना है कि पत्नी टीचर बनने के बाद बदल गई। उसका कहना है कि तुम होमगार्ड के जवान हो। तुम्हें 20 हजार सैलरी मिलती है। जबकि मुझे 35 हजार सैलरी मिलती है। तुम मेरा साथ छोड़ दो नहीं तो जान से मरवा देंगे।

पति ने बताया कि मैं दरभंगा में अपनी ड्यूटी कर रहा था। मुझे साजिश के तहत बीते 9 मार्च को सहरसा के रिफ्यूजी कॉलोनी मोहल्ले में परमानंद राय और विद्यानंद राय के मकान पर बुलाया गया। मेरी पत्नी, ससुर, साला, जेठ शाली और मेरी पत्नी के प्रेमिका अनोज झा सब मिलकर रूम में बंद करके मुझे पीटा। मैं अपनी पत्नी से बेहद प्यार करता हूं और अभी भी उसको रखने के लिए तैयार हूं।

डेली बिहार न्यूज फेसबुक ग्रुप को ज्वाइन करने के लिए लिंक पर क्लिक करें….DAILY BIHAR  आप हमे फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और WHATTSUP,YOUTUBE पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *