‘कोई कुछ भी कर ले, देश में NRC लागू होकर रहेगा’, JDU ने दिया BJP को सीधा जवाब

‘कोई कुछ भी कर ले, देश में NRC लागू होकर रहेगा’, JDU ने दिया ये जवाब

पटना. केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने बुधवार को संसद में कहा था कि पूरे देश में नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटिजन यानि NRC लागू किया जाएगा. ये मसला बिहार (Bihar) के लिए भी एक बड़ा मुद्दा है इसलिए यहां की सियासत भी गरमा गई है. सबसे पहले जेडीयू के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर (JDU National Vice President Prashant Kishore) ने सवाल पूछा कि बीजेपी शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों से इस मसले पर बात की गई या नहीं? उनके इस बयान पर केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह (Giriraj Singh) ने पलटवार करते हुए कहा कि आखिर अवैध लोगों से किसी को प्रेम क्यों है? अब बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता शाहनवाज हुसैन (BJP national spokesperson Shahnawaz Hussain) ने भी पीके के ट्वीट पर कहा कि कोई कुछ भी कर ले पूरे देश में NRC लागू होगा और जो घुसपैठिए हैं उन्हें वापस जाना होगा.

इस बीच लोक जन शक्ति पार्टी ने इस मुद्दे पर बीजेपी का खुलकर साथ दिया है. पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान ने कहा कि एनआरसी पूरे देश में लागू होना चाहिए, लेकिन किसी भी नागरिक की पहचान करने में कोई परेशानी नहीं होनी चाहिए.

इस बीच जेडीयू की ओर से आधिकारिक प्रतिक्रिया सामने आई है. पार्टी के प्रधान महासचिव केसी त्यागी ने प्रशांत किशोर के ट्वीट का समर्थन करते हुए कहा कि मैं एनआरसी पर आम सहमति बनाए जाने का पक्षधर हूं. उन्होंने आगे कहा कि हमारा गृह मंत्री और भारत सरकार से है आग्रह सभी स्टेक होल्डर को भरोसे में लेकर आगे बढ़ना चाहिए.

बीजेपी और जेडीयू के रुख पर कांग्रेस ने कड़ी प्रतिक्रिया दी है. बिहार कांग्रेस के प्रवक्ता प्रेमचंद्र मिश्रा ने कहा कि जदयू और बीजेपी में भारी अंतर्विरोध है. जदयू नही चाहती कि बिहार में एनआरसी लागू हो.  उन्होंने कहा कि बिहार में लागू करने से पहले केंद्र सरकार सीएम नीतीश कुमार से बात करे. इसके साथ ही इस पर सर्वदलीय बैठक कर सबकी राय ली जानी चाहिए. बिना राय लिए राज्यों पर थोपने की कोशिश न हो.

वहीं आरजेडी और आरएलसपी ने इस मसले पर सीएम नीतीश कुमार को प्रतिक्रिया व्यक्त करने को कहा है. पार्टी के एमएलसी सुबोध राय ने पूछा कि NRC मामले में नीतीश कुमार चुप क्यों हैं? वे अपने प्रवक्ताओं में से बुलवा रहे हैं. वह यह स्पष्ट बताएं कि NRC बिहार में लागू करेंगे या नहीं?

आरजेडी नेता ने कहा कि नीतीश कुमार का नट बीजेपी की हाथों में है. तीन तलाक और 370 कि तरह NRC लागू करने पर भी वे मजबूर होंगे. इस बीच आरएलएसपी के प्रवक्ता माधव आनंद ने कहा कि NRC के बहाने ज्वलंत मुद्दों से ध्यान भटकाने की कोशिश कर रही है बीजेपी.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *