बुद्ध पूर्णिमा पर कोरोना वॉरियर्स के सम्मान में आयोजित कार्यक्रम में पीएम मोदी ने किया संबोधन, जाने उन्होंने क्या कहा

आज बुद्ध पूर्णिमा के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए एक प्रार्थना सभा में शामिल हुए। प्रधानमंत्री कार्यालय द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक, सभा का आयोजन कोरोना वायरस के पीड़ितों और महामारी से सीधी लड़ाई लड़ रहे कोरोना योद्धाओं के सम्मान में किया गया। कार्यक्रम का आयोजन संस्कृति मंत्रालय ने दुनियाभर के बौद्ध संघों के सर्वोच्च प्रमुखों की भागीदारी और अंतर्राष्ट्रीय बौद्ध संघ के सहयोग के साथ मिलकर किया। इस प्रार्थना सभा के बाद पीएम मोदी का संबोधन भी हुआ।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने संबोधन में कहा, ‘बुद्ध की तरह ही आज कई लोग सेवा में जुटे हुए हैं।अस्पताल से लेकर सड़क तक कई लोग मानवता की सेवा में जुटे हुए हैं। भगवान बुद्ध का एक-एक वचन, एक-एक उपदेश मानवता की सेवा में भारत की प्रतिबद्धता को जाहिर करता है। संकट के इस दौर में नागरिकों का जीवन बचाने की पूरी कोशिश की जा रही है। जब दूसरे के लिए करुणा हो, संवेदना हो और सेवाभाव हो तो आप बड़ी से बड़ी चुनौती से पार पा सकते हैं।’

पीएम मोदी ने अपने संबोधन के अंत में लोगों से कोरोना वायरस के संकट से जूझ रहे विश्व को इस मुश्किल परिस्थिति में खुद की रक्षा और दूसरों की मदद की अपील की। पीएम ने कहा, ‘इस मुश्किल परिस्थिति में आप अपना और अपने परिवार का ख्याल रखें। अपनी रक्षा करें और यथासंभव दूसरों की मदद करें।’

बता दें कि राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू, लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने बुद्ध पूर्णिमा की पूर्व संध्या पर बुधवार को देशवासियों को शुभकामनाएं दीं और कहा कि भगवान बुद्ध का सत्य, शांति और करुणा का संदेश सदैव मानवता का मार्गदर्शन करता रहेगा.

राष्ट्रपति ने अपने संदेश में कहा, “बुद्ध पूर्णिमा के शुभ अवसर पर मैं सभी नागरिकों और पूरी दुनिया में भगवान बुद्ध के अनुयायियों को शुभकामनाएं देता हूं. भगवान बुद्ध का संदेश हमें प्रेम, सत्य, करुणा और अहिंसा के साथ मानवता की सेवा करने के लिए प्रेरित करता है.”

बहरहाल, कोविड-19 महामारी के प्रभाव के कारण बुद्ध पूर्णिमा समारोह एक वर्चुअल वेसाक दिवस के रूप में मनाया जा रहा है. यह आयोजन कोविड-19 के पीड़ितों और फंट्रलाइन वॉरियर्स, जैसे मेडिकल स्टाफ, डॉक्टर और पुलिसकर्मी व अन्य के सम्मान में आयोजित किया जा रहा है.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *