चिराग पासवान को बिहार बीजेपी का दो टूक जवाब, सत्ता के लिए नौटंकी ना करें, यह रवैया सही नहीं

चिराग के बयान पर संजय पासवान का जवाब, LJP के बिना भी सरकार में रही है BJP-JDU : बिहार विधासनभा चुनाव को लेकर लोक जनशक्ति पार्टी (एलजेपी) के अध्यक्ष चिराग पासवान द्वारा किए गए ट्वीट के बाद राज्य में राजनीतिक बयानबाजी का दौर शुरू हो गया है। भाजपा विधान पार्षद संजय पासवान ने लोजपा पर हमला किया है। शनिवार को पत्रकारों से अनौपचारिक बातचीत में कहा कि ऐसा लग रहा है कि लोजपा नेता सत्ता में बने रहे के लिए नाटक कर रहे हैं। उनका यह रवैया सही नहीं है। वर्ष 2010 में जदयू व भाजपा साथ मिलकर दो तिहाई बहुमत के साथ सरकार बना चुकी है।

अपने बयानों से चर्चा में बने रहने वाले संजय पासवान ने कहा कि बिहार में सरकार बनाने के लिए बीजेपी-जेडीयू को किसी और की जरूरत नहीं है। बिहार चुनाव स्थगित करने को लेकर चिराग पासवान के बयान से नाराज पासवान ने कहा कि उनका बयान बेहद आपत्तिजनक है। सवाल पूछा कि क्या चिराग पासवान या जो भी नेता चुनाव टालने की मांग कर रहे हैं, क्या उन्हें लोकतंत्र और चुनाव आयोग पर भरोसा नहीं रह गया है। चुनाव आयोग ने जब फैसला लिया तो उसे मानना ही पड़ेगा।

वाजपेयी सरकार में केंद्र में राज्यमंत्री रह चुके संजय पासवान कुछ महीने पहले मुख्यमंत्री पद को लेकर बयान दिया था। हालांकि अब वे साफ कहते हैं कि जब आलाकमान ने नीतीश कुमार को नेता मान लिया तो अब अगर-मगर का सवाल ही नही है। कोई भी अगर नीतीश कुमार या गठबंधन धर्म के खिलाफ बयान दिया तो चुप नहीं रहेंगे।

शुक्रवार को चिराग पासवान ने कही थी ये बात : संजय पासवान का यह बयान ऐसे समय में आया है जब लोजपा अध्यक्ष व सांसद चिराग पासवान ने वर्तमान परिस्थिति में चुनाव की पहल के खिलाफ खड़े हो गए हैं। चिराग पासवान ने शुक्रवार को कहा था कि कोरोना महामारी के बीच चुनाव करना ना तो लोकतंत्र के लिए सही है और ना ही जनता के हित में है। चिराग ने कहा था, ‘कोरोना के प्रकोप से बिहार ही नहीं पूरा देश प्रभावित है। कोरोना के कारण आम आदमी के साथ साथ केंद्र व बिहार सरकार का आर्थिक बजट भी प्रभावित हुआ है। ऐसे में चुनाव से प्रदेश पर अतिरिक्त आर्थिक बोझ पड़ेगा।’

रामविलास पासवान के बयान पर भाजपा नेता संजय पासवान ने कहा कि ऐसा लगता है कि यह सत्ता में बने रहने के लिए राम विलास जी की रणनीति का एक हिस्सा है। हमारे वरिष्ठ नेताओं ने कहा है कि एनडीए में सब ठीक है इसलिए हम भी मानते हैं कि सब ठीक है। बीजेपी और जेडीयू बिना लोजपा के भी सरकार में रहे हैं।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *