CM नीतीश के आवास के सामने युवक ने खुद को लगाई आ/ग, किया हं/गामा

PATNA: रविवार की दोपहर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) के आवास के बाहर एक युवक ने खुद को आ’ग लगा ली. वहां मौजूद सुरक्षा कर्मियों (Security Forces) ने आ’ग पर काबू पाते हुए युवक को बचा कर हि’रासत में अस्‍पताल भेज दिया है. उसका एक हाथ ज’ल गया है.

बताते चले कि युवक की पहचान अभिजीत शर्मा के रूप में हुई है. वह पटना मेडिकल कॉलेज एवं अस्‍पताल में अपनी मौसी की मौ’त की जांच के मामले को ठंडे बस्‍ते में डाल दिए जाने से दुखी था. आत्‍’मदाह की कोशिश के दौरान व बाद में वह लगातार रो/ते हुए कह रहा था कि उसे न्‍याय चाहिए. घटना ने मुख्‍यमंत्री आवास की सुरक्षा को लेकर भी सवाल खड़े कर दिए हैं.

तो वहीं मिली जानकारी के अनुसार करीब तीन महीने पहले पीएमसीएच में एक महिला की मौ’त डें/गू से हो गई थी. घटना के बाद मृत’क के स्‍वजनों ने उसकी मौ’त के लिए इलाज में लापरवाही का आ’रोप लगाया था. मौ’त के बाद जब हं’गामा मचा तो मामले की जांच कर कार्रवाई का आश्वासन बिहार के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री मंगल पांडेय ने दिया था. इसके बावजूद कोई कार्रवाई नहीं की गई.

दरअसल पटना में रविवार की दोपहर मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार के आवास के बाहर अ/फरा-त/फरी मच गई. वहां एक युवक ने अपनी मौसी की डें/गू से मौ’त के मामले में पीएमसीएच पर लापरवाही का आ’रोप लगाते हुए न्‍याय के लिए खुद को आ’ग के हवाले कर लिया.

महिला की मौ’त के बाद उसके स्‍वजन नाराज थे और काफी दिनों से इंसाफ की मांग कर रहे थे. बताया जाता है कि मृ’तक महिला अभिजीत की रिश्ते में मौसी लगती थी. जब कहीं इंसाफ नहीं मिला तो रविवार को अभिजीत सीधे मुख्‍यमंत्री आवास के बाहर पहुंच गया. इसके पहले कि मुख्यमंत्री आवास के बाहर तैनात पुलिसकर्मी कुछ समझ पाते, उसने खुद को आ/ग के हवाले कर लिया. आ/ग लगने के बाद जबतक उसे ब/चाया जाता, उसका दायां हाथ बु/री तरह से ज’ल गया.

घटना के बाद मौके पर अ/फरा-त/फरी का माहौल बन गया. जानकारी मिलने पर कई थानों की पुलिस पहुंच गई. युवक को हिरा’सत में लेकर एक निजी अस्‍पताल में भर्ती कराया गया है. घटना ने मुख्‍यमंत्री आवास की सुरक्षा को लेकर भी सवाल खड़े किए हैं.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *