काेराेना का खाैफ…5 दिन में 40000 यात्रियाें ने कैंसिल कराया टिकट, यात्रा करने से कर रहे परहेज

कोरोना के बढ़ते संक्रमण की वजह से लोग रेलयात्रा से परहेज करने लगे हैं। बिहार से बाहर जाने वाली ट्रेनों में सीटें खाली रह रही हैं। हालांकि दूसरे राज्यों में रहने वाले कामगार अब भी बड़ी संख्या में लगातार आ रहे हैं। 23 से 27 अप्रैल तक दानापुर मंडल में करीब 40 हजार यात्रियों ने अपना टिकट कैंसिल कराकर 2 कराेड़ 85 लाख 23 हजार 467 रुपए का रिफंड लिया है।

यह आंकड़ा आरक्षण टिकट काउंटरों के सभी क्लास का है। जबकि यूटीएस काउंटर से करीब 2475 यात्रियों ने 6 लाख 25 हजार 423 हजार रुपए का रिफंड लिया है। इसी का नतीजा है कि बिहार से बाहर जाने वाली अधिकतर स्पेशल ट्रेनों में एक-दो दिन बाद से ही टिकट उपलब्ध है। जिन ट्रेनों में टिकट उपलब्ध नहीं है, उनमें भी मामूली वेटिंग है। खासतौर से दिल्ली और मुंबई जाने वाली ट्रेनों की स्थिति यह है कि 5 मई के बाद से लगातार पर्याप्त संख्या में टिकट उपलब्ध है। जबकि, मई-जून में लगन हाेने के कारण पहले किसी ट्रेन में कंफर्म टिकट मिलना मुश्किल हाेता था।

46 मेमू-डेमू की जा चुकी है रद्द
पूर्व मध्य रेल की 23 जोड़ी यानी 46 मेमू-डेमू पैसेंजर स्पेशल ट्रेनों का परिचालन 28 अप्रैल से अगले आदेश तक के लिए रद्द कर दिया गया है। पूर्व मध्य रेल के सीपीआरओ राजेश कुमार ने बताया कि कोरोना का प्रसार रोकने के लिए पैसेंजर ट्रेनों का परिचालन रद्द किया गया है। लेकिन, अभी एक्सप्रेस ट्रेनों की संख्या कम करने या परिचालन के दिनों में कमी करने की कोई योजना नहीं है।

डेली बिहार न्यूज फेसबुक ग्रुप को ज्वाइन करने के लिए लिंक पर क्लिक करें….DAILY BIHAR

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *