अब 24 घंटे के भीतर ही आ जाएगी कोरोना की जांच रिपोर्ट

Patna:राज्य में कोरोना वायरस के संक्रमण की जांच रिपोर्ट अब 24 घंटे के भीतर आ जाएगी। स्वास्थ्य विभाग ने अभियान चलाकर टेस्टिंग के बैकलॉग काे समाप्त कर दिया है। टेस्ट रिपोर्ट के साथ एक नई व्यवस्था की शुरुआत की गई है कि अब इस पर जांच के परिणाम के साथ-साथ डॉक्टर का सुझाव भी दर्ज रहेगा, ताकि मरीज को पता रहे कि उसे होम आइसोलेशन में रहना है या इलाज के लिए कोविड-19 सेंटर अथवा डेडीकेटेड कोविड-19 अस्पताल में जाना है।

मुख्य सचिव दीपक कुमार द्वारा की गई बैठक में यह फैसला लिया गया। शनिवार को आईपीआरडी सचिव अनुपम कुमार और स्वास्थ्य सचिव लोकेश कुमार सिंह ने प्रेस काॅन्फ्रेंस में यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि बैकलॉग खत्म करने की वजह से ही शनिवार को बिहार में बहुत अधिक संक्रमित मरीज सामने आए। कोविड-19 की स्थिति की लगातार गहन समीक्षा की जा रही है। सभी बिंदुओं पर ध्यान दिया जा रहा है। जो कमियां पाई जाती हैं, उसको दूर किया जा रहा है।

पटना में 11 निजी अस्पताल चिह्नित: स्वास्थ्य सचिव ने बताया कि पटना में 11 निजी अस्पतालों को कोविड-19 के इलाज के लिए चिह्नित किया गया है। इनमें से पांच में 50 संक्रमित मरीज और 46 संदिग्ध मरीजों को इलाज के लिए भर्ती किया गया है। संक्रमण के हिसाब से ही इलाज होगा। जिला प्रशासन मरीजों के इलाज की व्यवस्था की मॉनिटरिंग करेगा। निजी अस्पतालों में भी लक्षण वाले, कम लक्षण वाले, मध्यम लक्षण वाले या बिना लक्षण वाले मरीजों को अलग-अलग रखा जाएगा।

निजी अस्पतालों में तैनात होंगे प्रशासनिक अधिकारी
आईपीआरडी सचिव ने बताया कि सभी जिलों को कोविड-19 मरीजों के इलाज के लिए निजी अस्पतालों को जल्द से जल्द चिह्नित करने और इलाज की दर तय करने का आदेश दिया गया है। कोविड-19 मरीजों का इलाज करने वाले निजी अस्पतालों में प्रशासनिक अधिकारी तैनात होंगे। मरीजों और डॉक्टरों के बीच बेहतर समन्वय स्थापित करने की जिम्मेदारी इन पर रहेगी।

सरकार ने उपलब्ध कराए 3 लाख और रैपिड एंटीजन टेस्ट किट

स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने कहा कि कोरोना जांच में तेजी लाने के लिए राज्य सरकार ने तीन खेप में दो लाख 80 हजार रैपिड एंटीजन टेस्ट किट उपलब्ध करवाया है। वहीं, पिछले एक सप्ताह के अंदर केंद्र ने भी 20 हजार रैपिड एंटीजन टेस्ट किट राज्य को भेजा है, जिसे सभी जिलों में भेजा जा रहा है। उन्होंने कहा कि राज्य के सभी अनुमंडल अस्पतालों और प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों में इस जांच किट्स के माध्यम से जांच की व्यवस्था शुरू कर दी गई है। केंद्र सरकार ने बिहार को पर्याप्त संख्या में वेंटीलेटर की आपूर्ति की गई है, जिसे विभिन्न सरकारी मेडिकल कॉलेज अस्पतालों में इंस्टाॅल किया जा रहा है।


कोरोना हॉस्पिटल के लिए 500 वेंटीलेटर: स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि केंद्र सरकार ने पहले चरण में 100 और दूसरे में 264 वेंटीलेटर भेजा। वहीं, 30 वेंटीलेटर राज्य सरकार ने क्रय किया। आठ वेंटीलेटर विभिन्न स्रोतों से सीएसआर के माध्यम से प्राप्त हुए। इस प्रकार कुल 402 वेंटीलेटर पिछले दो महीने के अंदर स्वास्थ्य विभाग ने प्राप्त किया। 100 और वेंटीलेटर केंद्र से अगले 15 से 20 दिनों में प्राप्त होंगे। इस प्रकार 500 से अधिक नए वेंटीलेटर इस कोरोना काल में स्वास्थ्य विभाग द्वारा उपलब्ध कराया गया है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *