बिहार में फिर मिले 2480 नए कोरोना पॉजिटिव, संक्रमितों का आंकड़ा 43 हजार के पार

Patna: मंगलवार को बिहार में 2480 नए कोरोना संक्रमित की पहचान की गई. इनमें 27 जुलाईं को 1749 और 26 जुलाईं व इसके पूर्व के 731 संक्रमित मरीज शामिल हैं. इसके साथ ही राज्य में कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़कर 43,591 हो गई.

पटना में 413 नए संक्रमितों की पहचान हुई

पटना में दो दिनों में 413 नए संक्रमितों की पहचान की गई. जबकि भागलपुर में 55, मुजफ्फरपुर में 199, गया में 145 और पूर्णिया में 73 नए संक्रमित मरीज मिले.स्वास्थ्य विभाग के अनुसार 27 जुलाईं को मिले 1749 नए संक्रमितों में अररिया में 24, अरवल में 23, औरंगाबाद में 46, बाँका में 16, बेगूसराय में 44, भागलपुर में 52, भोजपुर में 51, बक्सर में 52, दरभंगा में 16, पूर्वी चंपारण में 3, गया में 115, गोपालगंज में 18, जमुई में 38, जहानाबाद में 22, कैमूर में 6, कटिहार में 1, खगड़िया में 35, किशनगंज में 26, लखीसराय में 9, मधेपुरा में 29, मधुबनी में 50, मुंगेर में 27, मुजफ्फरपुर में 162, नालंदा में 121, नवादा में 17, पटना में 308, पूर्णिया में 42, रोहतास में 78, सहरसा में 12, समस्तीपुर में 53, सारण में 74, शेखपुरा में 11, शिवहर में 11, सीतामढ़ी में 6, सीवान में 33, सुपौल में 32, वैशाली में 70 और पश्चिमी चंपारण में 16 नए संक्रमितों की पहचान की गई है.

‘इकोमा’ Covid- 19 संक्रमित गंभीर मरीजों का जीवन रक्षक बनेगा
नई चिकित्सा पद्धति इकोमा बिहार में कोरोना के गंभीर मरीजों का जीवन रक्षक बनेग. राज्य में बढ़ते संक्रमण और कोरोना पीड़ितों की गंभीर होती शारीरिक परेशानी को देखते हुए अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) पटना ने इस नई चिकित्सा पद्धति को अपनाने का निर्णय लिया है. बिहार में एम्स ने ही सबसे पहले प्लाज्मा थेरेपी के माध्यम से कोरोना पीड़ितों का इलाज शुरू किया है और इसमें सफलता भी मिली है. लेकिन वैसे मरीज जिन्हें कोरोना के कारण श्वास लेने में बेहद परेशानी का सामना करना पड़ रहा है और उन्हें वेंटिलेटर पर ले जाना मुश्किल है, उनके लिए अब ”इकोमा” का सहारा लिया जाएगा. इससे अधिक से अधिक कोरोना मरीज स्वस्थ हो सकेंगे.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *